अनगड़ा अंचल का कारनामा का पर्दाफास

1

WhatsApp-Image-20160707रांची (ब्यूरो) : चतरा पंचायत सचिवालय में मुखिया सोहन मुंडा की अध्यक्षता में सरना स्थल एवं उसके आस- पास के गैरमजुरुआ जमीन को बचाने को लेकर एक आम बैठक रखा गया। बैठक में ग्रामीणों को इस बात की जानकारी हुई कि मौजा-चतरा , थाना न०- 31 ,खाता न०- 226 ,प्लाँट न० – 2549 , कुल रकबा – 6 एकड़ 40 डी० जमीन गैरमजुरुआ खास एवं सरना- स्थल के नाम पर खतियान में दर्ज है , जिसमे से 66 डी० एवं 45 डी० (कुल-111डी) जमीन को नामकुम अंचल, मौजा- सिलवे निवासी बुधुवा महतो, पिता – लालदेव महतो ग्राम- मानकी ढिपा को जमीन बन्दोबस्ती अभियान केस न०- 47/88-89 में अनुमंडल पदाधिकारी सदर, राँची द्वारा दिनांक:- 23/12/88 को बन्दोंबस्त कर दिया गया। जबकि यह जमीन सरना – स्थल के नाम से खतियान में दर्ज है।

जाँच के क्रम में यह बात भी सामने आयी है कि उपरोक्त व्यक्ति के नाम एक खतियानी रैयत बिगुवा महली, खाता न०-111 , प्लाट न०-2544, कुल रकबा – 65 डी० जमीन को भी गैरमजुरुआ दर्शाकर 58 डी० जमीन को बुधुवा महतो के नाम पर बन्दोंबस्त कर दिया गया है। जब अंचल कार्यालय, अनगड़ा के इस कार्यगुजारी की जानकारी ग्रामीणों को लगी तो बैठक में उपस्थित सभी महिला- पुरुषों में काफी गुस्सा देखा गया, सभी इस बन्दोंबस्ती को तत्काल रद्द करने, जमीन की नापी कराकर सीमांकण करने की माँग कर रहे थे। साथ ही यह निर्णय लिया गया कि दिनांक 13/7/16 को जमीन की नापी कराकर सीमांकण किया जायेगा और जगह-जगह पर पौधारोपण किया जायेगा। बैठक में उप-मुखिया सुरेन्द्र कच्छप, पंसस – सुलोचना देवी, सुमित कुमार महतो , जयपाल हजाम , किस्टो कुजुर , हरि उराँव , जितेन्द्र पाहन , शिवचरण मुंड़ा, जगलाल महतो, बुधराम महली सहित अनेक महिला – पुरुष उपस्थित थे |