एक बार फिर लावालौंग में बिगड़ने से बचा सांप्रदायिक सौहार्द !

2

चतरा/लावालौंग (रांची ब्यूरो) : जिले के अति उग्रवाद प्रभावित लावालौंग प्रखंड मुख्यालय में कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा निंदनिय कार्य कर ईद के पर्व पर एक बार फिर दोनों समुदायों के बीच आपसी सौहार्द बिगड़ने का असफल प्रयाश किया। ज्ञात हो कि लावालौंग देवी मंडप के बरामदे में प्रतिबंधित पशु का हड्डी, सिंग व खुर बुधवार की शाम किसी ने रख दिया था। सुबह मंडप में पूजा करने गए कुछ लोगों के द्वारा बरामदे में हड्डी वगैरह देखा तो इसकी जानकारी गांव के माननीय लोगों को दी गई। तत्काल सभी मंडप पहुंचकर स्थिति से अवगत हुए और ईद पर्व को देखते हुए लोगों से शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील की। फिर काफी संख्या में दोनों समुदायों के लोग मंडप परिसर में पहुंच गये। वहीं जानकारी मिलने पर स्थानीय विधायक गणेश गंझू भी देवी मंडप पहुंचकर आक्रोषित लोगों को समझा बुझा कर शांत करा आपसी भाईचारे को बिगड़ने नहीं देने की अपील की व मौके पर हीं ईद की बधाई भी दी।

दोनों समुदायों के गणमान्य लोगों द्वारा मौके पर निर्णय लिया गया कि अभी शांति पूर्ण तरीके से ईद का पर्व मनाया जाए। एक दो दिन के अंदर दोनों समुदायों के लोग बैठकर आपसी सौहार्द बिगाड़ने वाले उपद्रवी तत्व की पहचान कर समाज के सामने लाकर उसे दंडित करेंगे। आपसी सौहार्द बनाए रखने में आदित्य प्रसाद केशरी, सत्यनारायण प्रजापति, गोबिंद ठाकुर, मो. हसीब, मो. एजाजुल, मो. मुजीब अािद ने भी अहम भूमिका निभाई।