Breaking News

बिहार :: देश की सेना सीमा पर अपनी अहर्निश सेवा देती है : अरुण कुमार सिन्हा

बीहट (बेगूसराय) धर्मवीर कुमार : नॉर्थ सेंट विलियम्स एकेडमी तिलरथ के वार्षिकोत्सव कार्यक्रम का रविवार की देर संध्या में विधिवत उद्घाटन करते हुए बरौनी थर्मल के महाप्रबंधक अरुण कुमार सिन्हा ने कहा कि हमारे देश की सेना सीमा पर अपनी अहर्निश सेवा देती है। जिसके कारण मेरा पूरा देश आज सुरक्षित है। जीएम श्री सिन्हा ने कहा की छात्र जीवन में ही बच्चों को संस्कार इस तरह के विद्यालयों से मिलता है जहां शिक्षा में संस्कार की बात की जाती है। उन्होंने कहा कि विद्यालय भविष्य में यहां के नौनिहालों को बेहतर संस्कार देने का काम करेगा ऐसी उम्मीद की जा सकती है। वहीं मुखिया मोसादपुर मो. सालीम खान ने कहा कि आज भी हम सब इस देश के बीर सिपाही मो. हमीद को याद करते हैं। इस मौके पर स्वागत भाषण करते हुए नार्थ सेंड विलियम्स एकेडमी के निदेशक मोहन कुमार ने कहा कि विद्यालय अपने संस्कार में देश प्रेम की भावना को लेकर आगे बढ़ रहा है। निश्चित रुप से विद्यालय देश के लिए एक बेहतर नौनिहाल तैयार करेगा। वहीं नॉर्थ सेंट विलियम्स एकेडमी तिलरथ के वार्षिकोत्सव में बच्चों से लेकर युवा छात्र-छात्राओं ने अपने हर कार्यक्रम में देशप्रेम को जगाए रखा। जहां एक तरफ नौनिहाल बच्चे अपनी प्रस्तुति हम छोटे-छोटे बच्चे हैं, हम नौनिहाल बच्चे हैं की प्रस्तुति ज्योही मंच से हुई लोगों ने जोरदार ताली बजाकर अपने बच्चों का हौसला अफजाई किया। अब बारी था युवा छात्र-छात्राओं का आतंकवाद पर प्रहार करते हुए छात्रों ने अपनी प्रस्तुति दी, सुनो गौर से दुनिया वालों, ऐ वतन ऐ वतन हमको तेरी कसम, तेरी राहों में जान तक लूटा जाएंगे की दमदार प्रस्तुति दी। इस अवसर पर बरौनी हाजीपुर के शहीद जितेंद्र मल्लिक की मां को महाप्रबंधक बरौनी थर्मल के द्वारा सम्मानित किया गया। मंच संचालन विद्यालय के शिक्षक कुंदन कुमार ने किया। जबकि सुभांगी और अंकुर ने अपने मंच संचालन से सबको खुश कर दिया। आगत अतिथियों द्वारा प्रथम, द्वितीय, तृतीय सहित कार्यकम में भाग लिये छात्रों को प्रशस्ति प्रमाण पत्र भी दिया गया। मौके पर कांग्रेस नेता चुनचुन सिंह, बिहार ग्रामीण बैंक पपरौर शाखा प्रबंधक पीके कर्ण, विद्यालय के निदेशक मोहन कुमार, उनके पिता सेवानिवृत सैन्य पदाधिकारी एवं विद्यालय में छात्र-छात्रा, शिक्षक, शिक्षिका व अध्यनरत छात्र-छात्रों के अभिवावक सहित अन्य मौजूद थे।

Check Also

योगीता फाउंडेशन :: मन, वचन व कर्म में समानता रखने वाले गांधी व शास्त्री ने आत्मनिर्भर समाज का देखा था सपना- मनोज शर्मा

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट दरभंगा : राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का जीवन दर्शन एवं …

Leave a Reply

Your email address will not be published.