Breaking News

बिहार :: देश में भ्रष्टाचार का कारण राजनीति दल, जीएसटी से विकास दर 5 प्रतिशत घटा – महतो

मधुबनी/आाकिल हुसैन : भारतीय मित्र पार्टी के द्वारा नुक्कड़ सभा का आयोजन कर जनता को नोटबंदी एवं जीएसटी से देष और जनता का नुकसान किस तरह से हुआ है,उसे बता रही है। जिले के राजनगर प्रखण्ड क्षेत्र के रामपट्टी चौक एवं हटया चौक पर आयोजित नुक्कर सभा को सम्बोधित करते हुए पार्टी के राष्टीय अध्यक्ष धनेष्वर महतो ने कहा कि पिछले वर्ष प्रधानमंत्री के द्वारा 8 नवम्बर को देष में नोटबंदी बना ऐलान किये कर दिया गया। उस नोटबंदी ने देष के करीब 200 सौ से अधिक लोगों की जान बैकों के कतार में हो गयी,जिसमें मरने वाले ज्यादह गरीब ही थे,न कि एक भी अमीर,क्यों कि अमरों व खसकर भाजपा नेताओं के घरों पर नोट पहुंच गये थे। वहीं नोटबंदी के कारण देष के लाखों लोग बेरोजगार हो गये। श्री महतो ने कहा कि प्रधान मंत्री के द्वारा नोटबंदी करने से आतंकवाद पर अकुंष लगाने की बात कही गयी था,परंतु आंतकवाद पर किसी प्रकार का अकुंष नही लगा है। कला धन वापस लाने की बात भी प्रधनमंत्री ने अपने सम्बोधन कहा था,वह भी पुरी रतह विफल साबित हुआ है। उन्होने ने कहा कि देष में भाजपा की केन्द्र सरकार के द्वारा आनन फानन में जीएसटी लागु कर दिया गया। जीएसटी लागु करने से छोटे-छोटे व्यापार करने वाले व्यापारी का रोजगार मोदी सरकार ने छिन लिया। देष में 40 प्रतिषत कारोबारी का रोजगार समाप्त हो गया है,जिस कारण देष में बेरोजगारी बढ़ गयी है। श्री महतो ने कहा कि दुनिया के विकसति देषों में जीएसटी नही लागु है। जीएसटी लगाने से देष का विकास दर 5 प्रतिशत घट गया है। देष में आजादी के 70 वर्ष गुजरने के बावजुद पहली बार रोजगार का दर घटकर इतने निचे चला गया,जो सोंच कर विषय बन गया है। श्री महतो ने कहा कि देष में भ्रष्टाचार का कारण राजनीति दल है। क्या कि जो भी सरकार सत्ता में आती है वह अपने एवं पार्टी के फायदा के लिए देष की जनता का पेसा रैलियों पर खर्च कर देती है,जिस में भाजपा सबसे आगे है। उन्होने लोगो से जागरुक होने का अहवान किया। इस अवसर पर अनिल भारद्वाज,दिलीप पासवान,राजीव महतो,राजेष महतो रामलखन महतो सहित सैकड़ों लोग शामिल हुए। वही नुक्कर सभा के बाद सैकड़ों लोगों ने सदस्यता ली। 

Check Also

WIT दरभंगा बने देश का पहला महिला आईआईटी, वैज्ञानिक डॉ. मानस बिहारी वर्मा को दें सच्ची श्रद्धाजंलि – पुष्पम प्रिया चौधरी

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट : डब्ल्यूआईटी को देश का पहला महिला आईआईटी के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *