Breaking News

बिहार :: प्रेम प्रीत की जो शिक्षा दे वही धर्म हमारा : नीतीश

बिहारशरीफ। भगवान महावीर की निर्वाण भूमि पावापुरी में 2543वां निर्वाण महोत्सव पहली बार राजकीय महोत्सव के रूप में शुरू हो गया। महोत्सव का शुभारंभ बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दीप प्रज्ज्वलित कर एवं झंडोत्तोलन के साथ किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री कुमार ने कहा कि लोग अलग-अलग मत के हो सकते हैं, विचार अलग अलग हो सकता है, उनका आस्था अलग-अलग हो सकता है। आप किसी भी धर्म को मानिए आपका रास्ता अलग हो सकता है, लेकिन मंजिल हमेशा एक होती है। आपस में कोई मतभेद नहीं होना चाहिए। निर्वाण महोत्सव के दौरान मुख्यमंत्री पूरे दार्शनिक अंदाज में अपने संबोधन में कहा कि प्रेम प्रीत की जो शिक्षा दे, वही धर्म हमारा है। वह कर्म करें जिन कर्मो से वह सारे संसार का हो। उन्होंने कहा कि भगवान महावीर ने मानवता का जो संदेश दिया जियो और जीने दो का उसे आत्मसात करने की जरूरत है। आज दुनिया में सद्भाव बिगाड़ने की कोशिश चलती है, संधर्ष, विवाद का माहौल पैदा किया जाता है। खुद जीने और दूसरों को नहीं जीने देने की कोशिश चलती है, ऐसी बात जिनके मन में होती है वे भ्रम के शिकार है। कुछ लोग भ्रम में रहते हैं कि इस पर हमारा अधिकार है लेकिन यह पृथ्वी सबका है दूसरे को भी जीने की पूरी आजादी है। उन्होंने बिहार सरकार द्वारा किए जा रहे कार्यों को विस्तार से बताया और कहा कि वे न्याय के साथ विकास का काम करते आ रहें है। शराबबंदी लागू किया जिसमें जैन समाज द्वारा पूरा सहयोग किया गया। इसके लिए हम साधुवाद उन्हें देते हैं। उन्होंने कहा कि दहेज प्रथा और बाल विवाह पर रोक लगाने के लिए मुहिम शुरू की गई है उन्होंने कहा कि कानून तो बनाया ही गया है बल्कि जनचेतना भी जरूरी है इसके लिए हम लगातार अभियान चलाते रहे है।ं विगत 21 जनवरी को शराबबंदी लागू करने के लिए विशाल मानव श्रृंखला का आयोजन किया गया था जिसमें चार करोड़ लोगों ने भाग लिया। इस बार भी बाल विवाह एवं दहेज प्रथा पर रोक लगाने के लिए मानव श्रृंखला का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि नालंदा में अनेक काम किए गए हैं। नालंदा विश्वविद्यालय को पुर्नस्थापित करने का काम चल रहा है। 3 वर्षों से यहां पठन पाठन का काम संचालित हो रहा है। अपना भवन भी बन रहा है। इस विद्यालय के निर्माण का काम पूरी तरह से हो जाने के बाद यहां दुनिया भर के लोग आएंगे हमारा प्रयास है कि ऐसा इंतजाम हो कि कहीं से किसी को कोई कठिनाई न हो। निर्वाण महोत्सव के दौरान पावापुरी आने के दौरान यहां मेडिकल कॉलेज बनाए जाने का हमने सोचा, इसी बीच ग्रामीणों ने भी हमसे मेडिकल कॉलेज बनाने की मांग की। जिसके बाद मेडिकल कॉलेज का निर्माण कराया गया।उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि यह मेडिकल कॉलेज एक उच्च कोटि और अंतर्राष्ट्रीय स्तर का मेडिकल कॉलेज बन सके। इसके अलावा राजगीर में स्पोर्टस एकेडमी का निर्माण कराया जा रहा है। इस अवसर पर बिहार के ग्रामीण विकास एवं संसदीय कार्य मंत्री श्रवण कुमार, सांसद कौशलेंद्र कुमार, अस्थावां, ग्रामीण कार्य मंत्री शैलेश कुमार, विधायक डॉ जितेंद्र कुमार विधान पार्षद हीरा प्रसाद बिंद विधान पार्षद रीना यादव, प्रभारी सचिव अतीश चंद्रा, डीआईजी राजेश कुमार, जिलाधिकारी डॉ त्यागराजन, पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार पोरिका, जैन समाज के सदस्य सहित अन्य लोग उपस्थित थे

Check Also

रसियारी पौनी पंचायत के वार्ड सदस्यों ने मुखिया के अलोकतांत्रिक क्रियाकलापों से खिन्न हो डीएम से लगाया गुहार

दरभंगा सुरेन्द्र चौपाल:- किरतपुर प्रखंड क्षेत्र रसियारी-पौनी पंचायत में पंचायती राज चुनाव 2021 के शपथ …

Leave a Reply

Your email address will not be published.