Breaking News

बिहार :: ‘माइट मंगल’ के साथ शारदीय नवरात्र की तैयारी शुरू

मधुबनी : ज़िले के अंधराठाढ़ी प्रखंड के मैलाम गांव में मंगलवार को विधिवत रूप से माइट मंगल (माटी मंगल) मनाया गया। भाद्र शुक्ल चतुर्थी अर्थात चौठचंद्र के बाद आने वाले मंगलवार को माइट मंगल का आयोजन बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है। इस दिन का मिथिला के कुछ गांवों में ख़ासा महत्व माना जाता है, क्योंकि इसी माइट मंगल के बाद से शारदीय दुर्गा पूजा का विधिवत शुभारंभ माना जाता है। मंगलवार की सुबह मैलाम के सभी वर्णों के लोग एक साथ दुर्गा स्थान में एकत्रित होकर फिर वहां से वैदिक मंत्रोच्चारण और ढोल, पिपही के संग मैया के मटिकोर के लिए प्रस्थान किए।

इस संदर्भ में बातचीत करते हुए पंडित श्रवण जी झा बताते हैं कि, ‘मंगल को धरती का पुत्र माना जाता है, इसलिए जब कोई शुभ कार्य किया जाता है तो उसमें मंगल का खासा महत्व माना जाता है। यही कारण है कि चाहे जनेऊ, हो या फिर विवाह उसमें भी मटिकोर/माइट मंगल का प्रचलन मिथिला में रहा है।

इस पर विशेष जानकारी देते हुए मिथिला मिरर के संपादक ललित नारायण झा बताते हैं कि मिथिला के उन चुनिंदा गांवों में यह प्रथा है जहां शारदीय नवरात्र से पूर्व माइट मंगल कर गांव के एक तालाब से पांच सधवा स्त्री अपने माथे पर थाल में माटी लाती हैं और उसको श्रद्धा भाव से दुर्गा मंदिर में स्थान दिया जाता है। बाद में जब दुर्गा माता की प्रतिमा बनाई जाती है तो फिर सर्वप्रथम उसी मिट्टी का प्रयोग किया जाता है। ऐसा माना जाता है कि माइट मंगल के बाद लाया गया मिट्टी बहुत ही समृद्ध दायनी होती है, इसलिए गांववाले उसे कड़ी निगरानी में रखते हैं।

ललित के मुताबिक मैलाम के अलावा मिथिला के गांव भटसिमर, सिमरी, हड़री सहित मिथिला के कुछ और गिने-चुने जगहों पर इस उत्सव को भाव पूर्वक मनाया जाता है। कहा गया है कि मिथिला में विध-व्यवहार को ही प्राथमिकता दी गई है। ऐसे में माइट मंगल का यह पर्व निश्चित रूप से एक महीना पहले से ही दुर्गा पूजा को और रोचक बना देता है। मैया के माइट मंगल में पूजा के अध्यक्ष सुनील पाठक, भायराम राय, सुमन कांत झा, मुख्य पुजारी बौआकांत झा, अशोक झा, सुजीत झा एवम गोपी रमन झा सहित समस्त ग्रामीणों ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया।

Check Also

अब पेट्रोल पंपों से भी मिलेगा “छोटू” सिलेंडर

– छोटे उपयोगकर्ताओं के लिए कम कम औपचारिकता का कनेक्शन– 5 किलो वाला एलपीजी सिलेंडर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *