Breaking News

बिहार :: विगत छह माह से प्रभार में चल रहा पशु अस्पताल, दो मंजिला भवन लेकिन नहीं है कोई सुविधा

बेनीपट्टी/मधुबनी : पशुुपालन विभाग के उदासीनता के कारण प्रखंड के पषु अस्पताल में विगत छह माह से चिकित्सक की प्रतिनियुक्ति नहीं की जा रही है। चिकित्सक की कमी का आलम है कि बेनीपट्टी के साथ माधोपुर में संचालित पषु चिकित्सालय को भी प्रभार के सहारे चलाया जा रहा है। माधोपुर पषु चिकित्सालय में बिस्फी के चिकित्सक को प्रभार दिया गया है। बाढ़ग्रस्त क्षेत्र होने के कारण जहां चिकित्सक को हमेषा रहना चाहिए, वहां विभाग प्रभार के सहारे अपनी उपलब्धि दिखा रही है। पषु चिकित्सालय के मृतप्राय होने से किसान खुले बाजार में पषुओं का इलाज कराने को विवष है। वहीं इसके आड़ में कई झोला छाप मवेषी चिकित्सक बनकर क्षेत्र में कमाई कर रहे है। प्रखंड परिसर स्थित पषु चिकित्सालय में कार्यरत कर्मी तक को नहीं मालूम रहता है कि विभाग के द्वारा चिकित्सालय के लिए क्या-क्या आपूर्ति की जाती है। दोपहर करीब एक बजे पषु चिकित्सालय पहुंचने पर कार्यालय में कार्यरत कम्प्यूटर ऑपरेटर, आदेषपाल व एक कर्मी ऑफिस में बैठकर आपसी बात करने में मषगुल दिखे। पूछने पर बताया कि यहां के बारे में जो भी जानकारी लेनी है,प्रभारी चिकित्सक ही दे सकते है। दवा के संबंध में पूछने पर बताया कि इस संबंध में भी उन्हें कुछ नहीं मालूम। उनके हाजिर जवाब से साफ तौर पर कहा जा सकता है कि कार्य अवधि में पहुंचने से उनलोगों के आपसी बातचीत में खलल डाली गयी। गौरतलब है कि लाखों की राषि खर्च कर पषुपालन विभाग ने करीब सात वर्ष पूर्व प्रखंड परिसर में किसानों को लाभ पहुंचाने के लिए दो मंजिला पषु चिकित्सालय का निर्माण कराया। परंतु निर्माण होने के बाद से विभागीय लक्ष्य से काफी भटक चुका पषु चिकित्सालय से किसानों अथवा पषुपालकों को कोई खास लाभ नहीं मिल पा रहा है। कार्यालय मे कार्यरत कर्मी सिर्फ अपना दैनिकी उपस्थिति दर्ज कराने के लिए आते है। सूत्रों की माने तो पषु चिकित्सालय में मवेषी के जख्म को साफ करने के लिए दवा तक उपलब्ध नहीं कराई जाती है। जिससे स्पष्ट है कि पषु चिकित्सालय में कितने पैमाने पर लापरवाही की जा रही है। जिसका खामियाजा पषुपालकों को उठाना पड़ रहा है। इस संबंध में प्रभारी भ्रमणषील पषु चिकित्सा पदाधिकारी डा. सुमन कुमार ने बताया कि विभाग से समय पर दवा की आपूर्ति की जा रही है। पषुपालक के आने पर हर बीमारी का इलाज किया जा रहा है। फिलहाल विभाग हर पंचायत में टीकाकरण में जुटी हुई है।

Check Also

दरभंगा कंकाली मंदिर के पुजारी की गोली मारकर हत्या, 3 अपराधियों की आक्रोशित लोगों ने की पिटाई एक की मौत 2 की हालत गंभीर एक भक्त भी गोली लगने से ज़ख्मी

राजू सिंह की रिपोर्ट दरभंगा : दुर्गापूजा के महानवमी की अहले सुबह दरभंगा में अपराधियों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *