Breaking News

बिहार :: सात सूत्री मांगों को लेकर हड़ताल पर गये स्वास्थ्य विभाग के संविदा कर्मी

बिहारशरीफ : बिहार राज्य स्वास्थ्य संविदा कर्मी संध जिला शाखा नालंदा के आहवान पर राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के जिला स्तर से लेकर स्वास्थ्य उपकेंद्र स्तर से तक समस्य स्वास्थ्य संविदा कर्मी आज से हड़ताल पर चले गये है। जिन कर्मियों ने हड़ताल किया है उनमें आयुष चिकित्सक, अस्पताल प्रबंधक, प्रखंड़ स्वास्थ्य प्रबंधक, प्रखंड़ लेखापाल, एनयूएचएम, प्रखंड सामुदायिक उत्प्रेरक, कालाजार तकनीकि पर्यवेक्षक, पारा मेडिकल वर्कर, प्रखंड एमएंडई सहायक, परिवार कल्याण परामर्शी, अनुबंधित कर्मी, डाटा इंटरी ऑपरेटर शामिल है। अपनी सात सूत्री मांगों के समाधान के लिए आज से जिला स्वास्थ्य समिति नालंदा में सामूहिक अनिश्चितकालीन हड़ताल की शुरूआत की जिसकी अध्यक्षता डॉ अजीत कुमार सिंह ने की। इस अवसर पर वक्ताओं द्वारा दिये गये पहलुओं एवं तथ्यों का मौजूदा सभी सदस्यों एवं कर्मियों ने पूरजोर समर्थन कर आंदोलन के धार को और तीव्र करने की रूपरेखा तैयार की गयी। हडताल को संबोधित करते हुये संध के सचिव डॉ निर्मल नरेंद्र ने कहा कि सर्वोच्य न्यायालय के फैसले के आलोक में समान कार्य के बदले समान वेतन को लागू कि जाये। हडताल के माध्यम से सातवें वेतन आयोग की अनुशंसा के आलोक में स्वास्थ्य विभाग के विभागीय आदेश जिसमें राज्य स्तर से नियुक्त संविदा कर्मियों को दिये गये मानदेय के अनुरूप हीं राज्य स्वास्थ्य समिति बिहार एवं जिला स्वास्थ्य समिति बिहार अंतर्गत कार्य कर रहे समस्य पदाधिकारी, कर्मी के वेतन का निर्धारण सर्वोच्य न्यायालय के फैसले के आलोक में समान कार्य के बदले समान वेतन को लागू करने, राज्य स्वास्थ्य समिति, जिला स्वास्थ्य समिति के अंतर्गत कार्यरत सभी पदाधिकारी, कर्मियों का एचआर पॉलिसी बनाने, संविदा नवीनीकरण के कोप से मुक्त करते हुये कम से कम 65 वर्ष के उम्र तक कार्य करने की सीमा निर्धारित करने, आकस्मिक मृत्यु, के पश्चात अनुकंपा का लाभ एवं एकमुश्त अनुग्रह राशि का प्रावधान आश्रितों के लिए करने, राज्य स्वास्थ्य समिति बिहार , जिला स्वास्थ्य समिति बिहार अंतर्गत सभी पदाधिकारी, कर्मी के ईपीएफ की कटौती अनिवार्य रूप से करने, राज्य स्वास्थ्य समिति के गर्विर्नंग बॉडी में संध के पदधारकों को भी सदस्य के रूप में नामित करने, संजीवनी, एमसीटीएस डाटा ऑपरेटरों को आउट सोर्सिंग से मुक्त करते हुये जिला स्वास्थ्य समिति से नियोजित करने की मांग की गयी। हडताल में डॉ आशुतोष कुमार, डा सुचिता, प्रमोद कुमार, धीरेंद्र कुमार सिन्हा, विकास कुमार विभू, कुमार उज्ज्वल, मो एमएच रहमान, मो फिरोज हुसैन, मो इरशाद हुसैन, कंचन कुमारी, अर्चना कुमारी, आभा अंकिता, रीना कुमारी, विरेश कुमार, प्रभा कुमारी, सुभाषिनी कुमारी सहित अन्य लोग मौजूद थे।

Check Also

बिहार में बाढ़ :: चुटियाही के पास कोसी नदी का तटबंध टूटा, कुनौली व कमलपुर का सीधा संपर्क निर्मली से कटा

सुपौल/निर्मली : कोसी नदी के अंदर बना सिकरहट्टा-मझारी निम्न बांध गुरुवार की देर रात करीब …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *