बी.एड संयुक्त प्रवेश परीक्षा को लेकर डी.एम. ने की ब्रिफिंग

3

दरभंगा, विजय भारती :- दरभंगा, समाहरणालय अवस्थित बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेदकर सभागार में जिलाधिकारी राजीव रौशन ने बी.एड संयुक्त प्रवेश परीक्षा, 2022 को लेकर जिले के सभी परीक्षा केन्द्रों के केन्द्राधीक्षक, दण्डाधिकारी एवं अन्य संबंधित पदाधिकारी के साथ ब्रिफिंग की।
  उन्होंने बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा कि बी.एड संयुक्त प्रवेश परीक्षा, 2022 का आयोजन 06 जुलाई 2022 (बुधवार) को पूर्वाह्न 11ः00 बजे अपराह्न 01ः00 बजे तक दरभंगा जिला के 44 परीक्षा केन्द्रों पर किया गया है।
  जिला दण्डाधिकारी राजीव रौशन ने सभी केन्द्राधीक्षकों एवं दण्डाधिकारियों को ब्रिफिंग करते हुए कहा कि 10ः50 बजे पूर्वाह्न के बाद किसी भी परीक्षार्थी का प्रवेश परीक्षा केन्द्र के अन्दर नहीं होगा। इसके साथ उन्होंने कहा कि किसी भी व्यक्ति को परीक्षा केन्द्र के अन्दर मोबाईल रखने की इजाजत नहीं होगी।
  उन्होंने कहा कि उक्त परीक्षा को स्वच्छ, शांतिपूर्ण सुचारू पूर्वक संचालन कराने हेतु सभी परीक्षा केन्द्रों पर स्टैटिक दंडाधिकारी एवं पुलिस बल सहित सशस्त्र पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति की गयी है, इसके साथ ही परीक्षा केंद्रों को 15 जोन में विभक्त करते हुए 15 जोनल दण्डाधिकारी बनाये गए हैं, जो परीक्षा के दौरान लगातार परीक्षा केंद्रों की गस्ती करेंगे तथा स्वच्छ एवं कदाचार मुक्त परीक्षा संपन्न कराना सुनिश्चित करेंगे।
  सभी स्टैटिक दंडाधिकारी को निर्देशित किया कि परीक्षा केन्द्र पर प्रतिनियुक्त पुलिस पदाधिकारी एवं पुलिस बल के सहयोग से किसी भी बाहरी व्यक्ति को परीक्षा केन्द्र के अंदर नहीं जाने देंगे तथा परीक्षा केन्द्र के मुख्य द्वार पर ही परीक्षार्थियों का प्रवेश पत्र देखकर एवं जाँच कर ही अन्दर जाने देंगे। इसके साथ ही वे किसी भी परीक्षार्थी को परीक्षा कक्ष में किसी प्रकार की लिखित सामग्री, प्रवेश पत्र पर कोई लेख, सादा कागज, क्लिपबोर्ड, स्लाइड रूलर, कैलकुलेटर, मोबाईल फोन, ब्लूटूथ उपकरण, डिजिटल डायरी, पामटॉप, पी.डी.एम या कोई अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरण इत्यादि जैसी सामग्री लेकर प्रवेश नहीं करने देंगे।
  कहा कि परीक्षा केन्द्र के केन्द्राधीक्षक, आब्जर्वर, स्टैटिक दण्डाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी यह सुनिश्चित करेंगे कि अभ्यर्थियों हेतु परीक्षा केन्द्र का मुख्य प्रवेश द्वा 09ः00 बजे पूर्वाह्न में खुल जाए।
   केन्द्राधीक्षकों को निर्देश दिया गया है कि परीक्षा केन्द्र पर मुख्य द्वार के पास महिला एवं पुरुष परीक्षार्थियों के चिट-पूर्जा एवं इलेक्ट्रॉनिक सामग्रियों जाँच हेतु घेरा बनाकर सभी परीक्षार्थियों का शत-प्रतिशत अच्छी तरह से छान-बीन (फ्रिस्किंग) कराकर ही परीक्षा कक्ष में भेजा जाए।
  महिला परीक्षार्थियों की फ्रिस्किंग के लिए घेरा रखा जाएगा एवं महिला पुलिस कर्मियों की प्रतिनियुक्ति रहेंगी। कोई भी परीक्षार्थी प्रवेश पत्र एवं परिचय पत्र तथा कलम के सिवाय कुछ लेकर नही जाएगे। दिव्यांग परीक्षार्थियों के लिए अलग व्यवस्था की जाएगी एवं उन्हें 20 मिनट का अतिरिक्त समय दिया जाएगा।
   कोविड-19 के गाइडलाइन का परीक्षा केन्द्रों पर पूर्णतः अनुपालन कराया जाएगा। इसके लिए पर्याप्त संख्या में मास्क एवं हैण्ड सेनिटाईजर के साथ-साथ सामाजिक दूरी का अनुपालन अनिवार्य होगा।
  कहा कि 01 बैंच पर 02 से अधिक परीक्षार्थी नहीं बैठेंगे। साथ ही प्रश्न पत्र का बंडल दण्डाधिकारी की उपस्थित में केन्द्राधीक्षक खोलेंगे। परीक्षा के दौरान वीक्षक या किसी को भी मोबाईल फोन रखने की इजाजत नहीं होगी। केन्द्राधीक्षक लैण्ड लाइन फोन का उपयोग कर सकते है। कहा गया कि यदि स्मार्ट मोबाईल फोन के कारण परीक्षा संबंधी कोई गड़बड़ी होती है, तो इसके लिए केन्द्राधीक्षक जिम्मेवार माना जाएगा।
   केन्द्राधीक्षक, स्टैटिक दण्डाधिकारी, जोनल दण्डाधिकारी को सख्त निर्देश दिया गया है कि उक्त परीक्षा में फर्जी परीक्षार्थी या ऐसे परीक्षार्थी जो कदाचारिता करते पकड़े जाते हैं, तो उनके विरूद्ध बिहार परीक्षा संचालन अधिनियम-1981 के तहत आवश्यक कार्रवाई करना सुनिश्चित करेंगे।
   केन्द्राधीक्षक को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है कि वे अपने परीक्षा केन्द्र पर परीक्षा कार्य में प्रतिनियुक्त सभी शिक्षक/कर्मी को परीक्षा पूर्व ही परिचय पत्र निर्गत करेंगे। इसके साथ ही सभी वीक्षक/कर्मी को निदेशित किया गया है कि वे अपना परिचय पत्र अपने शर्ट के पैकेट के सामने लगाकर रखेंगे।
   सभी संबंधित थानाध्यक्ष को अपने-अपने क्षेत्रान्तर्गत पड़ने वाले उक्त परीक्षा केन्द्र पर कड़ी निगरानी रखने तथा शांतिपूर्वक एवं कदाचारविहीन परीक्षा संचालन कराने का निर्देश दिया गया है। अनुमण्डल पदाधिकारी, सदर एवं अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी, सदर उक्त परीक्षा के विधि व्यवस्था के सम्पूर्ण प्रभार में रहेंगे।
   जिला दण्डाधिकारी द्वारा सभी केन्द्राधीक्षक, स्टैटिक दण्डाधिकारी, जोनल दण्डाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी एवं परीक्षा कार्य से जुड़े अन्य सभी पदाधिकारी/कर्मी को उक्त परीक्षा को हरहाल में शांतिपूर्ण, कदाचारविहीन एवं सुचारू पूर्वक संचालन कराना सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया गया।
  उक्त बैठक में अपर समाहर्त्ता (राजस्व) विभूति रंजन चौधरी, उप निदेशक, जन सम्पर्क नागेन्द्र कुमार गुप्ता, वरीय कोषागार पदाधिकारी शम्भू कुमार आर्य, उत्पाद अधीक्षक ओम प्रकाश एवं संबंधित दण्डाधिकारी व केन्द्राधीक्षक उपस्थित थे।