Breaking News

म.प्र. :: 8 आतंकवादियों का एनकाउंटर, अहले सुबह भोपाल सेंट्रल जेल से हुए थे फरार

simiencounter1477897283_big-320x240भोपाल : त्वरित कार्रवाई करते हुए एटीएस, भोपाल पुलिस और आईबी के साझा ऑपरेशन में 8 सिमी आतंकियों को एनकाउंटर में मार दिया गया है.आठों सिमी आतंकी आज अहले सुबह भोपाल की सेंट्रल जेल से फरार हुए थे.सभी 8 आतंकियों को भोपाल के बाहरी इलाके इंतखेड़ी गांव में मारा गया है. ये सभी आतंकी ड्यूटी पर मौजूद हेड कॉन्स्टेबल को मारकर फरार हो गए थे. मारे गए हेड कॉन्स्टेबल की पहचान रमाशंकर के रूप में हुई है. एक और गार्ड के घायल होने की खबर है. आतंकियों के इस एनकाउंटर के पीछे एटीएस, भोपाल पुलिस और आईबी का साझा ऑपरेशन था.
भागने वाले सभी 8 आतंकी शेख मुजीब, खालिद, मजीद, अकील खिलजी, जाकिर, महबूब, अमजद और सलिख थे. राज्य के गृह मंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा कि पूरे राज्य की पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है. जेल प्रबंधन की वजह से आतंकियों ने इस घटना को अंजाम दिया. कार्रवाई करते हुए जेल के 5 अधिकारियों को सस्पेंड किया गया था. इस बीच गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से भी बात भी की.
बता दें कि आतंकियों ने जेल में मिली चादरों की रस्सी बनाई , उसी के सहारे वे दीवार फांद गए. बताया गया था कि इसमें से कुछ आतंकी वे भी थे जो 2013 में खंडवा जेल से भागे थे. घटना रात करीब 3 बजे की है. आतंकियों पर देशद्रोह और अन्य कई संगीन मामले दर्ज है.

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने भोपाल जेल से भागे सिमी सदस्यों के मामले में मध्य प्रदेश पुलिस से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है. गृह मंत्रालय के मुताबिक 2013 में भागे सिमी के 5 लोग वहीं थे, जो पहले खंडवा जेल से भाग चुके थे. इस बार भी भागे. 3 नये सिमी के सदस्य इस ग्रुप में शामिल होकर भागे. इस ग्रुप का मुख्य सरगना भागने में कामयाब नहीं हो पाया.

Check Also

700 करोड़ का शराब घोटाला, उत्पाद विभाग का पूर्व सचिव बिहार से गिरफ्तार

  डेस्क। छत्तीसगढ़ पुलिस और बिहार पुलिस की एक संयुक्त टीम ने गुरुवार देर रात …

अब बिहार के 70 हजार सरकारी स्कूलों के बदलेंगे नाम, शिक्षा विभाग की बड़ी तैयारी

  डेस्क। बिहार में शिक्षा विभाग ने 70 हजार सरकारी स्कूलों का नाम बदलने की …

नहाय-खाय के साथ चैती छठ आज से शुरू, 15 अप्रैल को प्रातःकालीन अर्घ्य

डेस्क। रामनवमी से पहले आज यानी 12 अप्रैल से बिहार में आस्था का महापर्व चैती …