नवजात बच्चों की देख-रेख हेतु महिलाओं को दिए दिशा-निर्देश।

1
जालंधर(उमेश बत्रा) :: आजIMG-20160807-WA0004 (1) एस.एम.ओ करतारपुर डॉ.उषा के दिशानिर्देशानुसार ए.एम.ओ डॉ .हेमंत मल्होत्रा की अगुवाई में पी.एच.सी  रंधावा मसंदा में ब्रैस्ट फीडिंग सप्ताह मनाया गया ,वहीं पर डॉक्टर हेमंत मल्होत्रा ने कहा कि जब बच्चा छोटा होता है तो वह अपनी मां की गोद में सबसे अधिक रहता है ,मां से ज्यादा बच्चे का पालन पोषण कोई भी नहीं कर सकता और बच्चे का पालन पोषण मॉ के लिए भी तभी संभव है जब मां अपने नवजात बच्चे का पालन पोषण कैसे करना है इसके लिए सही सलाह डॉक्टर से ले | एल एच वी रघुवीर कौर ने कहा कि  माताओं को कब दूध पिलाना चाहिए, बच्चे को कब नहीं पिलाना चाहिए इसके बारे में भी माताओं को पूरी जानकारी होनी चाहिए  क्योंकि अधिकतर बच्चा तभी बीमार होता है जब मैं बहुत थकी हुई होती है और बच्चे को दूध पिला देती है जो की बहुत ही गलत है | एल.एच.वी रघुबीर कौर और उर्मिल गिल ने उपस्तिथ माताओ को माता के दूध की महत्ता , पिलाने के तरीके ,सफाई  और बिना डॉक्टर की सलाह दवा खाने के दूध से होने वाले दुष्प्रभाव के बारे मैं जागरूक किया ! इस मोके ए.एन.एम शांति , ज्योति, फार्मासिस्ट रवि , सुदर्शन ,इंदरजीत , संदीप एवम बाकि स्टाफ भी उपस्तिथ था !