Breaking News

दरभंगा :: संवादाता सम्मेलन कर मिथाईल अल्कोहल की जानकारी दी गई।

दरभंगाvlcsnap-2016-09-09-21h46m30s437 :: पारस ग्लोबल हॉस्पीटल दरभंगा में आज संवादाता सम्मेलन कर मिथाईल अल्कोहल के बारे में जानकारी दी गई। इस सम्मेलन में पारस हॉस्पीटल के यूनिट हेड डॉ0 आनंद पदेरू, डॉ0 ए.के. गुप्ता, डॉ0 ज्योति प्रकाश कर्ण, डॉ0 अभिषेक सर्राफ, डॉ0 ज्योति मस्करा, डॉ0 अजय कुमार लाल दस, अमरनाथ साव, मो0 आजीम संजात, डॉ0 इरफान, डॉ0 सी.पी. प्रिया इत्यादी मौजूद थे। इस सम्मेलन में अल्कोहल के दुष्प्रभाव के प्रति जागरूक किया गया। डॉ0 ए.के. गुप्ता ने बताया कि मिथाईल अल्कोहल एक सस्ता तथा जहरीला अल्कोहल है। इस तरह के अल्कोहल के सेवन से ऑख की रोशनी पर बहुत प्रभाव परता है तथा कैंसर जैसी बिमारी भी हो सकती है। जल्द ईलाज न करने पर जान भी जा सकती है। इस अल्कोहल का कोई गंध नहीं होता है जिसके कारण इसका मिलावट आसानी से किया जा सकता है। इस प्रकार के शराब का सेवन मुख्यतः गरीब तबके के लोग ज्यादा करते हैं क्योंकि यह शराब सस्ता मिल जाता है। इसे पीने से सबसे पहले हेडेक आना पेट में दर्द, उल्टी होना आम बात है।
मिथाइल अल्कोहल या मिथनॉल का प्रयोग औद्योगिक रूप से होता है और यह वार्निश, एंटीफ्रिज पदार्थ, पेंट व ईंधन में पाया जाता है। यह शराब में अल्कोहल की मात्रा बढ़ाने के लिए उपयोग किया जाता है। जब मिथेनॉल पी लिया जाता है तो तब यह फार्मिक एसिड में बदल जाता है। प्रति लीटर में 500 मिलीग्राम को मानव शरीर के लिए काफी जहरीला माना जाता है और इससे लोग अंधेपन का शिकार हो सकते हैं। इससे अधिक मात्रा में मिलावट जानलेवा होता है। वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाइजेशन के एक रिपोर्ट के अनुसार मिथनॉल के जहरीले होने से समस्या तब और गंभीर हो जाती है जब डिस्टीलेशन के दौरान अधिक कंस्ट्रेशन का उपयोग होता है। खासकर तब जब स्प्रिट बनाने एवं अवैध अल्कोहलिक ड्रिंक में मनमाने ढंग से मिथनॉल मिलाया जाता है।
मिथनॉल शरीर में तब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दिखाता, जब तक यह फार्मिक एसिड में बदल जाय। शराब के जहरीला होने का प्रांरभिक लक्षण नींद आना, खड़ा होने में कठिनाई एवं चलने फिरने में असमर्थ होना हैं। चूंकि शराब पीने वालों का यह आम लक्षण है इसलिए लोग मरीज को तुरंत अस्पताल नहीं लाते है। लगभग छह घंटे बाद रोगी को सिरदर्द, उल्टी व पेट दर्द होने लगता है। वह हाइपरवेंटिलेट हो सकता है या ऑखों की रोशनी गंवा सकता है।

Check Also

डॉ मशकूर उस्मानी ने निभाया वादा, अंजली बिटिया की पढ़ाई शुरू जाने लगी कांवेंट स्कूल

डेस्क : बीते माह जाले के ब्राह्मण टोली में रहने वाली चंचल झा नाम की …