मुख्यमंत्री द्वारा बाढ़ एवं सुखाड़ के संबंध में समीक्षात्मक बैठक की गई।

2

दरभंगा। मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार द्वारा संभावित बाढ़ एवं सुखाड़ के संबंध में पूर्व में 22 जून 2016 को विडियो काॅन्फ्रेसिंग में दिये निदेश के आलोक मे पुनः विडियो काॅन्फ्रेसिंग से समीक्षात्मक बैठक आहूत की गई।

सर्वप्रथम सभी जिलों में वर्षापात की स्थिति की समीक्षा की गई। पाया गया कि पूरे राज्य में औसत से कम वर्षा अबतक हो पायी है। कुछेक जिलों को छोड़कर शेष जिलों में धान की बुआई प्रभावित हुई है। कम वर्षा की स्थिति को देखते हुए मुख्यमंत्री ने डीजल सब्सिडी की योजना को लाने का संकेत दिया। ग्रामीण ईलाकों में बिजली की लगातार आपूत्र्ति सुनिश्चित करने का निदेश दिया गया।
दरभंगा जिला बाढ़ से प्रभावित होता रहा है, अतएव संभावित बाढ़ के खतरे से निपटने हेतु तैयारियों की जानकारी जिलाधिकारी डाॅ0 चन्द्रशेखर सिंह ने विडियो काॅन्फ्रेसिंग में दी। उन्होनें बताया कि दरभंगा जिले के कुल 08 प्रखण्डो के 68 पंचायत पूर्ण रूप से एवं 37 पंचायत आंशिक रूप से बाढ़ से प्रभावित होते है। कुल 517 गाँव के 11 लाख 907 जनसंख्या प्रभावित होती है। पोलीथीन शीट, नाव, टेन्ट की पर्याप्त मात्रा होने की जानकारी दी गयी। बाढ़ की स्थिति में ऊँचे शरण स्थलों की पहचान किये जाने की जानकारी जिलाधिकारी द्वारा दी गयी। मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारियों को स्वयं तटबंधो एवं शरण स्थलों का निरीक्षण करने का निदेश दिया। संचार योजना को सुदृढ़ बनाते हुए आकस्मिक फसल योजना का आकलन करने का निदेश दिया। कृषि विभाग को धान आक्षादान वाले क्षेत्रों के आकड़ो का संग्रहण करने हेतु बेहतर तकनीक का प्रयोग करने का निदेश दिया।

अंत में मुख्यमंत्री ने सभी जिलों के प्रभारी सचिवों को एक सप्ताह के अन्दर जिलों में आपदा प्रबंधन की बैठक कर स्थिति का आकलन करते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश देने का निदेश दिया।

उक्त विडियो काॅन्फ्रेसिंग में आयुक्त आर0के0 खण्डेलवाल, जिलाधिकारी डाॅ0 चन्द्रशेखर सिंह, वरीय पुलिस निरीक्षक सत्यवीर सिंह, अपर समाहत्र्ता अनिल चैधरी, आपदा प्रबंधन प्रभारी रवीन्द्र कुमार दिवाकर, जिला जन सम्पर्क पदाधिकारी कन्हैया कुमार व अन्य पदाधिकारीगण उपस्थित थे।