जालंधर::रेत माफिया के खिलाफ गाँव टगारा वासिओ ने लगाया घरना।

4

 

जालंधर(गगनदीप सिप्पी/राजीव धम्मि):जालंधर के समीप पढ़ते गाँव टगारा के लोगो ने रेत माफिया के खिलाफ स्थानीय गाँव वासियो ने गाँव के सरपंच के साथ मिल के पिछले तीन चार दिनों से धरना प्रदर्शन कर रहे है।वहाँ मौजूद लोगों का कहना है कि प्रशासन द्वारा कोई भी कदम न उठाएं जाने से तंग आकर हम गाँव वालों ने हार कर रेत खिलाफ धरना प्रदर्शन एव रोष प्रदर्शन किया है।वहाँ मौजूद लोगों का कहना है कि जो रेत के टिपर और ट्रालियां दरया से भर कर बाहर आती है एक तो वह ओवरलोड होती है और दूसरा इनकी स्पीड इतनी ज्यादा होती है जिसकी वजह से कोई हादसा भी सकता है , ओवर स्पीडिंग की वजह से कुछ समय पहले एक छोटी लड़की की मौत भी हो चुकी है परन्तु प्रशंसन द्वारा रेत माफिया के लोगो के खिलाफ कोई कदम नही उठाया।गाँव के सरपंच ने ये भी आरोप लगाया कि ये माइनिंग विभाग के लोगो की मिली भगत के साथ ही ये सब गेरकानूनी तरीके से सब काम कर रहे है।इतना ही नही वहाँ मौजूद लोगो ने कहाँ की पिछले तीन दिनों से हमने धरना लगा रखा है पर न तो डीसी, न तो माइनिंग विभाग से कोई सुध बुध लेने आया है।गाँव के लोगो ने बताया कि उन्होंने ने खुद दस टिपरो के पुलिस की मदद से भारी चालान कटवाए और तीन टिपरो को बाउंड भी करवाया है।वहाँ मौजूद लोगों ने प्रशासन से मांग की है कि इस गेरकानूनी तरीके से हो रही माइनिंग को जल्द से जल्द रोका जाये,अगर इस पर रोक नही लगाई गई तो आने वाले समय मे दरया का बांध टूटने का खतरा है जिस कारण कम से कम आस पास के 10 गाँव डूब जाएंगे जिसका जिमेदार पुराण रूप से प्रशासन होगा।इस मोके पर सरपंच हरमेश लाल,पूर्व एस.आई. गोपाल सिंह,दिलबाग सिंह,बलविंदर सिंह एव अन्ये गाँव के लोग मौजूद थे।