Breaking News

डॉ मशकूर उस्मानी ने निभाया वादा, अंजली बिटिया की पढ़ाई शुरू जाने लगी कांवेंट स्कूल

डेस्क : बीते माह जाले के ब्राह्मण टोली में रहने वाली चंचल झा नाम की बच्ची को जाले माध्यमिक विद्यालय में खुले तार से करेंट लगने से स्कूल मे ही उसका देहांत हो गया था। जाले से कांग्रेस के पूर्व प्रत्याशी डॉक्टर मशकूर अहमद उस्मानी ने बच्ची के पिता भरत झा से मिलने के बाद गहरी संवेदना व्यक्त की थी और वादा किया था कि उनकी छोटी पुत्री यानी स्वर्गीय चंचल की छोटी बहन अंजली झा के शिक्षा की जिम्मेदारी उठाएँगे।

अपने वादे के मुताबिक डॉ उस्मानी ने बताया कि अंजली का नामांकन अब जाले के एक कान्वेंट स्कूल में हो गया है और वो अब अपनी पढाई शुरू कर चुकी है।

डॉ• उस्मानी ने उनके नामांकन के साथ ही स्कूल ड्रेस, जूते, किताब, कॉपी इत्यादि भी उपलब्ध करवा दी है और अब वो नियमित तौर पर स्कूल जा रही है।

अंजली ने उस्मानी से बातचीत के दौरान बताया कि वो पढ़ लिख कर सरकारी शिक्षक बनना चाहती है। डॉ• उस्मानी ने अंजली झा से मिलकर उन्हें उनके उज्वल भविष्य की शुभकामनाएं दी और आगे हर संभव मदद का भरोसा दिया। उस्मानी ने एक स्थानीय व्यक्ति को उसकी बराबर देख रेख की ज़िम्मेदारी भी सौंपी है जो अंजली के परिवार से लगातार संपर्क में रहेगा जिससे उसकी पढाई में आ रही किसी भी प्रकार की बाधाओं को फ़ौरन दूर किया जायेगा।

जाले के सरकारी स्कूल की दुर्दशा पर डॉ उस्मानी ने उठाया सवाल, स्थानीय विधायक सह मंत्री जीवेश कुमार पर लगाया आरोप

जाले के सरकारी स्कूल की हालत पर उस्मानी ने सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि लम्बे समय से शिक्षा और यहां विद्यार्थियों को मिलने वाली व्यवस्था पर कोई काम नहीं किया गया है। हमारे बच्चे जर्जर इमारतों और बदहाल शिक्षा व्यवस्था में पढ़ने को मजबूर हैं। सरकार केवल वोट लेती है पर विकास के नाम पर ग़रीबों को बेवकूफ़ बनाती है। उनके बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करती है। काश अगर सरकार ने थोड़ा ध्यान दिया होता तो बच्चों के साथ ऐसा हादसा ना हुआ होता। उन्होंने जाले विधायक सह मंत्री जीवेश कुमार पर आरोप लगाते हुए कहा कि मंत्री जी तो माफियाओं के साथ पैसे बनाने में व्यस्त हैं और जाले की जनता त्रस्त है।

Check Also

विश्व दिव्यांगता दिवस की पूर्व संध्या पर पुअर होम दरभंगा में कार्यक्रम आयोजित

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट दरभंगा : राष्ट्रवादी सोच पर आधारित सक्षम संस्था के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *