Breaking News

शिक्षा के स्तर को सुधारने हेतु, शिक्षा पदाधिकारियों को जिलाधिकारी ने दिए कई निर्देश।

दरभंगा। समाहरणालय अवस्थित बाबा साहेब डाॅ0 भीमराव अम्बेदकर सभागार में जिला पदाधिकारी डाॅ0 चन्द्रशेखर सिंह की अध्यक्षता में शिक्षा विभाग की मासिक समीक्षात्मक बैठक की गई। जिला पदाधिकारी महोदय ने बैठक को सम्बोधित करते हुए प्रखण्ड शिक्षा पदाधिकारीगणों को विद्यालयों में शिक्षा के स्तर को सुधारने हेतु कई निर्देश दिये। सर्वप्रथम विद्यालय भवन निर्माण हेतु जमीन दान के इच्छूक व्यक्तियों से व्यक्तिगत सम्पर्क कर उन्हें आवश्यक सुविधा उपलब्ध कराने का निदेश दिया गया। विद्यालय भवन निर्माण हेतु जमीन का आकार कम से कम 70/60 फीट होना चाहिए। जमीन दूर-दराज में न हो, जमीन पर पहुँचने के लिए पहुँच पथ अवश्य रहें, जमीन गड्ढ़े में न हो, सभी तरह से अनुकूल होने पर जमीन को राज्यपाल के नाम से निबंधित करने हेतु अंचलाधिकारी के यहाँ आवेदन दे। निबंधन पश्चात् म्यूटेशन अवश्य करवा लें।

तत्पश्चात् पंजी में अभिलेख दर्ज करवावें। निबंधित जमीन के प्रति विद्यालय में रखें। विद्यालयों का औचक निरीक्षण करने का निदेश जिला पदाधिकारी द्वारा दिया गया ताकि शिक्षकों एवं विद्यार्थियों की उपस्थिति की जाँच की जा सकें। विद्यालयों से शिक्षकों के अनुपस्थित रहने एवं समय पर विद्यालय नही पहुँचने की शिकायत को जिलाधिकारी ने गंभीरता से लिया है। उन्होनें स्पष्ट कड़े शब्दों मे निदेश दिया कि अनुपस्थित एवं देर से आने वाले शिक्षकों से स्पष्टीकरण पूछे एवं संतोषजनक जबाव न मिल पाने की स्थिति में अथवा तीन बार से ज्यादा लगातार शिकायत होने पर सेवा से मुक्त करने की अनुशंसा करें। औचक निरीक्षण स्कूल खुलने के समय पर ही करने का निदेश दिया गया।

विद्यालयों की साफ-सफाई की चर्चा करते हुए जिलाधिकारी ने सर्वप्रथम विद्यार्थियों में सफाई के प्रति जागरूकता लाने हेतु कदम उठाने की आवश्यकता पर बल दिया। तत्पश्चात् श्रमदान करके विद्यालयों के परिसर को साफ रखने की सलाह दी। तीन वैसे पंचायत जिनकों 15 अगस्त को पूर्ण शौचालय युक्त पंचायत घोषित किया जाना है, उनके अन्तर्गत आने वाले विद्यालयों में निर्मित शौचालयों की शत्-प्रतिशत उपयोगिता एवं सफाई की व्यवस्था सुनिश्चित करने का निदेश दिया। अलीनगर प्रखण्ड जिसे जिला का प्रथम पूर्ण शौचालय युक्त प्रखण्ड घोषित करने की दिशा में कार्यक्रम चलाया जा रहा है, वहाँ के सभी विद्यालयों में शौचालय की सफाई की व्यवस्था एवं उपयोगिता सुनिश्चित करने का निदेश दिया। तीनों पंचायत यथा – नवानगर नरमा, हरहच्चा, दिघियार में बच्चों को संकल्प पत्र वितरित किया गया है उसे अभिभावकों से भरवाकर विद्यालयों में जमा करने की स्थिति की समीक्षा करने का निदेश दिया गया। इन सारे कार्यों का अनुश्रवण जिला शिक्षा पदाधिकारी एवं सर्व शिक्षा अभियान के जिला कार्यक्रम पदाधिकारी करेंगे। कस्तुरबा गाँधी बालिका विद्यालय में शुद्ध पेयजल हेतु आर0ओ0 फिल्टर लगवाया जाएगा। जिलाधिकारी ने विद्यालयों में खान-पान में सफाई एवं सावधानी बरतने का निदेश दिया ताकि बच्चों को शुद्ध पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराया जा सकें। विद्यालयों में छात्र/छात्राओं के बैंक खाता खोलने की स्थिति की भी समीक्षा की गई, इसे शत्-प्रतिशत पूरा करने का निदेश दिया गया। ज्ञातव्य है कि अब पोशाक, साईकिल एवं छात्रवृत्ति की राशि खाते के जरिए ही दी जाएगी।
उक्त बैठक में जिला शिक्षा पदाधिकारी दीप नारायण यादव, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी रजनी कान्त प्रवीण, जिला जन सम्पर्क पदाधिकारी कन्हैया कुमार, प्रखण्ड शिक्षा पदाधिकारी व शिक्षा विभाग के अन्य पदाधिकारीगण उपस्थित थे।

Check Also

“बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ और बेटी को संस्कारित करो” – भागवताचार्य ब्रह्मा कुमार

चकरनगर/इटावा (डॉ एस बी एस चौहान की रिपोर्ट) : हम अगर बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ …