Breaking News

कोविड-19 :: ऑनलाइन बैठक में मुख्यमंत्री ने दिए गांवों में मास्क का प्रचार कराने का निर्देश

दरभंगा : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कोविड-19 (कोरोना) संक्रमण की रोकथाम को लेकर स्वास्थ्य विभाग,बिहार, बिहार के सभी प्रमंडलीय आयुक्त एवं जिलाधिकारी के साथ ऑनलाइन बैठक की।

बैठक में स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने कोरोना संक्रमण की रोकथाम व इलाज के लिए राज्य में जिलावार उपलब्ध व्यवस्था से मुख्यमंत्री को अवगत कराते हुए बताया कि 7 अगस्त की ऑनलाइन बैठक में दिए गए निर्देश के आलोक में सभी जिलों में तेजी से कार्य किए गए हैं। 7 अगस्त को बिहार में जहाँ कोविड 19 जाँच की संख्या 87,852 थी वह आज बढ़कर 22 लाख 28 हजार 516 हो गया है। 7 अगस्त 2020 को प्रति लाख जनसंख्या पर टेस्टिंग की संख्या 6820 थी जो बढ़कर 17451 हो गयी।
उन्होंने कहा कि कोविड 19 का रिकवरी रेट भी लगातार बढ़ता जा रहा है जो 64.44 प्रतिशत से बढ़कर 78.05 प्रतिशत हो गया है। उन्होंने कहा कि RT PCR जांच की सुविधा कई निजी मेडिकल कॉलेज में उपलब्ध कराई जा रही है। भागलपुर एवं मधेपुरा में आर.टी.पी.सी.आर जाँच शुरू हो गई है। वर्तमान में प्रतिदिन आर. टी. पी. सी. आर से 7000 जाँच की जा रही है, जिसे बढ़ाकर 15 सितंबर तक 10 हजार प्रतिदिन कर दिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि होम आइसोलेशन वालों के यहां प्रतिदिन चिकित्सा कर्मियों द्वारा भ्रमण कर उनका भौतिक सत्यापन किया जा रहा है, कि उन्हें मेडिकल किट्स मिला है या नहीं, उन्हें कोई समस्या तो नहीं है। स्टेप वन संस्था के चिकित्सा कर्मी भी वाहन द्वारा होम आइसोलेशन वालों का भौतिक सत्यापन कर रहे हैं। सभी जिलों में बेड की संख्या बढ़ाई गई है। प्लाज्मा बैंक की स्थापना पटना में की जा चुकी है। बाढ़ प्रभावित जिलों में रैपिड एंटीजन टेस्ट कराया गया है।

उन्होंने मुख्यमंत्री को कोविड 19 के जिलावार आंकड़ा से अवगत कराया। मुख्यमंत्री ने मधुबनी जिला में तुलनात्मक रूप से एक्टिव केस ज्यादा होने पर चिंता जाहिर की तथा प्रधान सचिव, स्वास्थ्य विभाग को मधुबनी व पूर्वी चंपारण में ज्यादा टेस्ट कराने तथा जिलाधिकारी पटना को दियारा एवं टाल क्षेत्र के साथ शहरी क्षेत्र में अधिक से अधिक टेस्ट कराने के निर्देश दिए। साथ ही उन्होंने आर. टी. पी. सी. आर जाँच की संख्या बढ़ाने, प्रत्येक कार्य विभाग के द्वारा कराए जाने वाले कार्य में कार्यरत मजदूरों को मास्क पहनना सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए। उन्होंने गाँव स्तर तक मास्क व सोशल डिस्टेंस का प्रचार प्रसार कराने के लिए फ्लेक्स लगवाने एवं माईकिंग कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अभी भी 10 प्रतिशत लोगों के द्वारा मास्क का प्रयोग नहीं किया जा रहा है, इसके लिए लोगों में जागरूकता लाना आवश्यक है। समीक्षा में दरभंगा में कोविड-19 की जांच की संख्या, रिकवरी रेट एवं इलाज की व्यवस्था संतोषजनक पाई गई।

ऑनलाइन बैठक में मयंक वरवड़े, आयुक्त, दरभंगा प्रमंडल, दरभंगा, जिला अधिकारी डॉ त्यागराजन एस.एम, सहायक समाहर्ता प्रियंका रानी, उप निदेशक जन संपर्क नागेंद्र कुमार गुप्ता, डीपीएम हेल्थ विशाल कुमार सिंह उपस्थित थे।

Check Also

विश्व दिव्यांगता दिवस की पूर्व संध्या पर पुअर होम दरभंगा में कार्यक्रम आयोजित

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट दरभंगा : राष्ट्रवादी सोच पर आधारित सक्षम संस्था के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *