Breaking News

दरभंगा में अब पीओएस मशीन से बंटेगा राशन, डीलरों की ट्रेनिंग आज से

डेस्क : राशन में धांधली किसी से छिपी नहीं है। कई लोग महीनों राशन नहीं लेते, लेकिन उनके पास राशन के वारे-न्यारे हो जाते हैं। जिसका फायदा बिचौलिए उठाते हैं। मगर अब ऐसा नहीं होगा। राशन माफिया पर नकेल कसने और राशन में हो रही धांधली को रोकने के लिए शासन नई व्यवस्था शुरू करने जा रहा है। इसके तहत सभी सरकारी गल्ले की दुकानों पर प्वाइंट ऑफ सेल (पीओएस) मशीन लगाई जाएगी, जिसके जरिए राशन डिस्ट्रिब्यूट होगा। इसमें धांधली के चांसेज न के बराबर हैं।

जी हां, दरभंगा जिले में भी राशन की दुकानों पर पॉइंट ऑफ सेल ‘पीओएस’ मशीनों से बायोमैट्रिक सत्यापन के बाद ही राशन मिलेगा। राशन की दुकानों पर पीओएस मशीन लगाने की व्यवस्था लागू हो गई है। इसके लिए डीलरों को प्रशिक्षण देने की शुरूआत ब्लॉक स्तर पर की जा रही है।

कई साल से अनाज वितरण में धांधली करने वालों पर शिकंजा कसने के लिए अब पीओएस मशीन से अनाज का वितरण किया जाएगा। इसके लिए उपभोक्ताओं के आधार कार्ड, मोबाइल नंबर व बैंक एकाउंट को राशन कार्ड से लिंक कराया गया है। जिन उपभोक्ताओं का आधार कार्ड राशन कार्ड से लिंक नहीं हो पाया है उसे भी लिंक करने की प्रक्रिया युद्धस्तर पर जारी है।

डिस्ट्रिक्ट सप्लाई ऑफिस को पर्याप्त संख्या में पीओएस मशीन मिल चुकी हैं। जिम्मेदारों की मानें तो यह व्यवस्था इसी महीने शुरू हो जाएगी। फिलहाल इन पीओएस मशीनों की हैंडलिंग कैसे हो, इसके लिए ट्रेनिंग आज से शुरू होनी है, जिसके बाद इनका इस्तेमाल शुरू हो जाएगा।

डीएसओ अजय कुमार ने बताया कि पूरे जिले में राशन की दुकानों पर पीओएस मशीन लगाने की व्यवस्था लागू हो गई है। इसके लिए डीलरों को प्रशिक्षण देने की शुरूआत ब्लॉक स्तर पर की जा रही है। प्रशिक्षण समाप्ति के उपरांत सभी राशन दुकानों में पीओएस मशीन लगवाकर जल्द ही इस एडवांस सिस्टम से उपभोक्ताओं के बीच राशन वितरित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि पीओएस मशीन खाद्य विभाग के ऑनलाइन मॉनिटरिंग सिस्टम से जुड़ी रहेगी। इस तरह जो भी राशन लेने आएगा उसका बायोमैट्रिेक थंब इंप्रेशन लिया जाएगा, जिसका यह मशीन मिलान करेगी।

ये सुविधा होगी मशीन में

  • आधार कार्ड रीडिंग
  • डॉक्यूमेंट स्कैनर
  • थम्ब इम्प्रेशन
  • एंड्रॉयड टच स्क्रीन
  • इंटरनेट कनेक्टिविटी
  • राशन डिस्ट्रिब्यूशन डीटेल

बता दें कि इसका सीधा फायदा आम आदमी को होगा। पीओएस मशीनें बेहद एडवांस हैं। जिस लाभार्थी को जितना राशन दिया जाएगा। उसकी पर्ची मशीन से निकलेगी। इसमें राशन की मात्रा, उसका मूल्य और समय अंकित होगा। इस मशीन से जो राशन डीलर स्टॉक रजिस्टर में फर्जीवाड़ा करते थे, उस पर रोक लगेगी।

Uses of POS Demo Video SWARNIM TIMES

मशीन से राशन व्यवस्था शुरू हो, इससे पहले सभी कोटेदारों और वहां काम करने वालों को इसे ऑपरेट करने का तरीका बताया जाएगा। जिसके बाद इन्हें हर राशन की दुकान पर इंस्टॉल किया जाएगा। जिला पूर्ति कार्यालय के जिम्मेदार भी इस ट्रेनिंग का कब से इंतजार कर रहे थे।

Check Also

डॉ मशकूर उस्मानी ने निभाया वादा, अंजली बिटिया की पढ़ाई शुरू जाने लगी कांवेंट स्कूल

डेस्क : बीते माह जाले के ब्राह्मण टोली में रहने वाली चंचल झा नाम की …