Breaking News

गौरवशाली दरभंगा व एमएसयू ने मिलकर किया ध्वजारोहण, दरभंगा के लालकिला पर 5वीं बार लहराया तिरंगा

डेस्क : 74 वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर दरभंगा के ऐतिहासिक राज किला और लाल किला के नाम से विख्यात धरोहर पर गौरवशाली दरभंगा टीम और मिथिला स्टूडेंट्स यूनियन के युवाओं द्वारा लगातार पांचवी बार किला पर ध्वजारोहण किया गया । दोनों ही टीम के युवाओ ने 1962 के बाद से किला पर उपेक्षित ध्वजारोहण को पुनः 2018 से शुरू किया और तब से लेकर अब तक लगातार किला पर ध्वजारोहण करते हुए इस वर्ष भी ये सिलसिला जारी रख पाँचवी बार दरभंगा के सबसे ऊंचे धरोहर पर तिरंगा को लहराया।

सूचित हो कि 2018 के स्वाधीनता दिवस से चोरी छुपे विपरीत परिस्थितियों में पहली बार किला पर चढ़ कर दोनों टीम के युवाओं द्वारा दरभंगा किला पर तिरंगा लहराकर तिरंगे के मान सम्मान और किला की शान को बढ़ाकर दरभंगा में धरोहर के प्रति लोगों का ध्यानाकर्षित किया गया।

एमएसयू के राष्ट्रीय महासचिव गोपाल चौधरी ने सरकार के प्रति नारजगी व्यक्त करते हुए कहा कि सभी सरकारों ने धरोहरों को लेकर दरभंगा को अब तक छलने का काम किया हैं जिसका जीवंत उदहारण दरभंगा का राज किला हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि हमने किला पर ध्वजारोहण की शुरुआत 2018 में विपरीत परिस्थितियों में की थी लेकिन पिछले दो वर्षों से सरकार और स्थानीय प्रशासन उदासीन ही रहा है। अगर अब भी सरकार का रवैया नही बदला तो किला के संरक्षण हेतु उग्र प्रदर्शन किया जाएगा।

गौरवशाली दरभंगा टीम के संतोष चौधरी ने कहा की दरभंगा के 62 फ़ीट की ऊंचाई रखने वाले लाल किला पर ध्वजारोहण कर के जहां गर्व महसूस होता है वही ध्वजारोहण के ऐतिहासिक स्थल की स्थिति को देख कर दर्द होता हैं।

इस बार लगातार पांचवी बार भी दोनों टीमों के युवा रूह कंपाने वाली जटिल वृक्ष के लताओं के माध्यम से अपनी जान को जोखिम में डाल कर किला पर चढ़ते आ रहे हैं और किला पर ध्वजारोहण कर रहे हैं। लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण है कि किसी का ध्यान इस किला की बर्बादी पर नहीं जा रहा लेकिन जिस दिन यह क्षतिग्रस्त हो जाएगा उस दिन सभी जनप्रतिनिधि आ कर दुख प्रकट कर देंगे और अपनी छवि चमकाते है।

कार्यक्रम में उपस्थित कई युवाओं ने एक सुर में कहा कि यदि आने वाले समय में स्थानीय प्रशासन और जनप्रतिनिधियों ने सरकारी स्तर पर कार्यक्रम आयोजित कर राजकिला को संरक्षित करने का कदम नहीं उठाया तो अपने धरोहर को सहेजने हेतु उग्र आंदोलन किया जाएगा।

ध्वजारोहण स्थल पर सभी तिरंगे के सम्मान में खड़े होकर राष्ट्रगान गाने लगे और उस के बाद देश हित मे नारे लगाकर अपनी राष्ट्रभावना को ज़ाहिर किया। अंत में सभी ने एक स्वर में घोषणा की आने वाले गणतंत्र दिवस पर यदि कोई सहयोग नही मिला तो आमजनमानस के सहयोग से जागरूकता अभियान चला कर दरभंगा लाल किले पर ऐतिहासिक कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। किले पर चढ़ने में अभिषेक कुमार झा, अनूप कुमार झा, गणपति, दिवाकर, अमित ठाकुर और अविनाश थे। वहीं किले के नीचे दोनों टीमों के सैकड़ों युवा उपस्थित रहे।

Check Also

न्याय मार्च :: पत्रकारों को सुरक्षा मुहैया कराए सरकार, दरभंगा में पत्रकारों ने काला पट्टी बांधकर बेनीपट्टी के पत्रकार अविनाश की हत्या के खिलाफ निकाला कैंडल मार्च

विजय कुमार भारती की स्पेशल रिपोर्ट : आज जहां पूरा देश में राष्ट्रीय प्रेस दिवस …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *