Breaking News

पुराने वादे हुए दरकिनार, नये जुमलों की भरमार-कांग्रेस

राज प्रताप सिंह, लखनऊ ब्यूरो। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने केन्द्रीय बजट को घोर निराशाजनक, किसान, युवा एवं बेरोजगार विरोधी बताया है। उन्होंने शनिवार को बयान जारी कर कहा कि केंद्रीय बजट रेलवे, एलआईसी, स्वास्थ्य सेवाओं आदि में निजीकरण को बढ़ावा देकर चुनिन्दा उद्यमियों को फायदा पहुंचाने वाला है। देश की आधी आबादी का प्रतिनिधित्व करने वाली महिला व युवाओं के रोजगार सृजन के नाम पर बजट मौन है।


शिक्षा, स्वास्थ्य, भोजन एवं सुरक्षा लोकतांत्रिक सरकार की प्राथमिक जिम्मेदारी और जनता का बुनियादी अधिकार है इसे उद्योगपतियों को सौंपना जनता के साथ विश्वासघात है। यह बजट पूरी तरह खोखला एवं विकासविरोधी है।  प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि कृषि प्रधान प्रदेश में 60 प्रतिशत से अधिक लोगों की जीविका कृषि पर निर्भर है।

इसके बावजूद लगातार किसानों की आय दुगुनी करने की घोषणा करने के बाद भी इस बजट में कोई खाका प्रस्तुत करने में मोदी सरकार असफल साबित हुई है। सरकार बजट में किसानों की लागत कम करने और उचित मूल्य दिलाने की कोई योजना प्रस्तुत नहीं कर पायी बल्कि 16 सूत्रीय जुमलों वाला फार्मूला लेकर आई है।


श्री लल्लू ने कहा कि दलित, पिछड़े और आदिवासी, जो अर्थव्यवस्था के विकास की रीढ़ है, उसकी उन्नति, प्रगति और विकास का कोई खाका इस बजट  में प्रस्तुत नहीं किया गया है। देश बेरोजगारी की सबसे भयावह स्थिति में है। पिछले 48 साल में बेरोजगारी दर सबसे निचले स्तर पर है। मौजूदा सरकार अपने कार्यकाल में युवाओं को रोजगार देने में पूरी तरह से असफल साबित हुई है।

Check Also

प्राकृतिक छटा पर जेसीबी मशीन का कहर

चकरनगर/इटावा। ऊंचे टीले और कंटीली झाड़ियों को संजोए रखने वाला चकरनगर बीहड़ क्षेत्र धीरे-धीरे प्राकृतिक …