Breaking News

जिप सदस्य मो. रूमी की मृत्यु को लेकर जिला प्रशासन द्वारा जांच टीम गठित, 3 दिनों में प्रतिवेदन समर्पित करने का आदेश

डेस्क : दरभंगा जिले के सिंहवाड़ा प्रखंड के बिरदीपुर निवासी पूर्व जिला परिषद सदस्य और राजद ज़िला उपाध्यक्ष जमाल अतहर रूमी की मौत देर रात डीएमसीएच में हो गई। देर रात हुई मृत्यु को लेकर मृतक के परिजनों ने डीएमसीएच के डॉक्टर व कर्मियों पर लापरवाही का आरोप लगाया था। जिसपर दरभंगा जिलाधिकारी डॉ त्यागराजन एसएम ने संज्ञान लेते हुए जांच टीम गठित कर 3 दिनों में प्रतिवेदन समर्पित करने का आदेश दिया है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक मृतक मो.रूमी का कोरोना टेस्ट रिपोर्ट भी निगेटिव आया है।

दरभंगा जिला परिषद के सदस्य दिवंगत जमाल अतहर रूमी की मृत्यु पर जिला प्रशासन दरभंगा द्वारा गहरी संवेदना प्रकट की गई है।

साथ ही मृत्यु से संबंधित घटित घटनाओं को जिला प्रशासन द्वारा गंभीरता से लेते हुए सभी बिंदुओं पर जाँच करने हेतु 4 सदस्यीय जाँच टीम का गठन किया गया है।

  • जिप सदस्य की मृत्यु की जांच हेतु टीम गठित
  • चार सदस्यीय जाँच टीम करेगी कारणों की जाँच
  • 3 दिनों के अंदर प्रतिवेदन समर्पित करेगी जाँच टीम

जाँच टीम में जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी, दरभंगा -सह -डीएमसीएच के प्रशासनिक पदाधिकारी, अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी, दरभंगा (एसीएमओ), एसडीओ सदर, दरभंगा एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी सदर, दरभंगा शामिल हैं।

जांच टीम को मृत्यु की घटना के सभी कारणों की जाँच करते हुए अपना प्रतिवेदन 3 दिनों के अंदर समर्पित करने का आदेश दिया गया है। जिलाधिकारी डॉ त्यागराजन एसएम ने कहा है कि घटना से संबंधित अन्य प्रशासनिक कार्रवाई भी की जा रही है।

गौरतलब है कि मृतक के भाई एजाज अतहर बबलू ने बताया कि मृतक मो. रूमी को फेफरे की बीमारी पहले से थी और साँस लेने में दिक्कत हो रहा था। उन्हें दो दिन पूर्व डीएमसीएच के आईसीयू में एडमिट किया गया था। बीती रात उन्हें आईसीयू में रखकर ड्यूटी पर तैनात नर्स और अन्य स्वास्थ्य कर्मी आईसीयू के बाहर आकर वेटिंग रूम में बैठे परिजन को बाहर निकाल दिया।

थोड़े ही देर में मृतक मो.रूमी के चिल्लाने की आवाज़ आई तो मौजूद परिजन वहाँ दौड़कर गए। उनलोगों ने देखा कि उनके मुँह पर लगा ऑक्सिजन हटा हुआ है और वो अंतिम साँस ले रहे है और थोड़े ही देर में उनकी मौत भी हो गई। उसके बाद स्वास्थ्य कर्मी और परिजनों के बीच हो हंगामा हुआ। 20-25 की तादाद में बाहर से लोग आकर उनके परिजनों से बहुत मार पीट किया जिससे वो लोग बुरी तरह घायल हो गए। थोड़े ही देर में प्रशासन भी पहुँच गया और मृतक को उनके पैतृक गांव ले जाकर बिरदीपुर के कब्रिस्तान में सुबह 4 बजे दफन कर दिया गया।

Check Also

आईआईटी में ओमेगा का जलवा, दर्जनभर छात्रों ने लहराया परचम

डेस्क : भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों (आईआईटी) में दाखिले के लिए होने वाली संयुक्त प्रवेश परीक्षा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *