Breaking News

उ०प्र० :: बीजेपी चेयरमैन पद के उम्मीदवार के ड्राइवर की बीकेटी में बेरहमी से हत्या

लखनऊ,ब्यूरो (राज प्रताप सिंह) –  बीकेटी भारतीय जनता पार्टी के चेयरमैन पद के उम्मीदवार अरुण सिंह ऊर्फ गप्पू के ड्राइवर की बीती रात बदमाशों ने धारदार हथियार से बेरहमी से हत्या कर दी। सुबह बीकेटी के महिपतपुर (देवरईकलां) के एक सरकारी नलकूप पर 25 वर्षीय चालक की रक्तरंजित लाश मिलने पर ग्रामीणों ने घटना की जानकारी पुलिस के साथ ही मृतक के परिजनों को दी।
भाजपा नेता की चालक की हत्या की जानकारी लगते ही पुलिस महकमें में हड़कंप मच गया। सूचना पाकर मौके पर क्षेत्रिय पुलिस के अलावा आला अधिकारी भी पहुंचे। पुलिस ने छानबीन के बाद शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है।हत्या के पीछे चालक के परिचितों का नाम सामने आया है।
बताया जा रहा है कि बीकेटी के देवरई गांव वार्ड नंबर पांच के निवासी नारायण सिंह किसानी करते है, जबकि उनका बेटा आलोक सिंह ऊर्फ पुष्कर अरुण सिंह की गाड़ी चलाता था। नारायण सिंह ने पुलिस को बताया कि पुष्कर कल अपरान्ह चार बाहर से घर लौटा था। जिसके कुछ देर बाद ही वह बुखार और खांसी आने की बात कहकर चला गया। रात में भी घर नहीं लौटा। जिसके बाद आज सुबह सात बजे गांववालों ने बताया कि पुष्कर की देवरईकलां के एक नलकूप पर लाश पड़ी है।
फोन कर कहा था लालू और उसके साथियों के साथ बियर पी रहा हूं।
पिता ने पुलिस को तहरीर देकर आरोप लगाया है कि पुष्कर ने कल रात करीब सवा आठ बजे गांव के ही मनीष सिंह के मोबाइल पर कॉल कर बताया था कि एक मॉडल शॉप में लालू और उसके दो-तीन साथियों के साथ शराब पी रहा है। उसे अंदेशा है कि लालू ने ही उसके बेटे की हत्या की होगी। पिता की तहरीर के बाद पुलिस लालू व उसके साथियों के खिलाफ संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर उनकी तलाश कर रही है।
संघर्ष के बाद भी जिंदगी की जंग हत्यारों से नहीं जीत सका पुष्कर
प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार पुष्कर की लाश देखने से लग रहा था कि नशे में होने के बाद भी उसने काफी देर तक हत्यारों से संघर्ष किया होगा। यहीं वजह है कि उसके गले, चेहरे, आंख व सिर समेत बदन के कई हिस्सों पर धारदार और किसी भारी चीज से की गई चोटों के निशान थे। समझा जा रहा है कि हत्यारों की संख्या तीन से चार होने की वजह से पुष्कर उनसे खुद को नहीं बचा सका।
एएसपीआर डॉ. सतीश कुमार ने बताया
मृतक के पिता की तहरीर पर मुकदमा दर्ज करने के साथ ही आरोपित की तलाश के लिए छापेमारी की जा रही है। इसके अलावा पुष्कर की कॉल डिटेल निकलवाने समेत भी विभिन्न बिन्दुओं पर पुलिस की पड़ताल चल रही है। आरोपितों के पकड़े जाने पर हत्या की वजह पूरी तरह साफ हो पाएगी।

Check Also

अब दरभंगा शहरी क्षेत्र में प्रतिदिन टीकाकरण, नहीं होगी वैक्सीन की कमी – डीडीसी तनय सुल्तानिया

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट – कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए बिहार में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *