Breaking News

बिहार :: पिरहो से राजभवन तक रमता संघर्ष समिति का महा पदयात्रा प्रारंभ

करपी प्रतिनिधि : रमता को इंसाफ दिलाने को लेकर रमता संघर्ष समिति के तत्वाधान में शुक्रवार को पिरहो गाँव से पटना राजभवन तक महा पदयात्रा शुरू किया गया जिसमें दर्जनों लोग शामिल हुए। बहुजन समाज पार्टी के जिलाध्यक्ष सह रमता संघर्ष समिति के संयोजक मनोज सिंह यादव ने करपी प्रखंड के पिरहो गाँव में बताया कि एक गरीब घर की लड़की रमता घर से गरीबी को दुरे करने के लिए प्रतिदिन पुलिस की तैयारी करने के लिए औरंगाबाद जिला के रघुनाथपुर सड़क पर दौड़ लगाती थी। परंतु 9 सितंबर को अपराधियों ने उसका अपहरण कर उसकी निर्मम हत्या करते हुए 10 नवंबर को उसके शव को औरंगाबाद जिले क्षेत्र के नाले में फेंक दिया। शव को उठाते समय औरंगाबाद एवं अरवल पुलिस लंबी चैड़ी आश्वासन दिया था लेकिन आजतक पीड़ित परिवार को न्याय नहीं मिला। यहाँ तक कि इस हत्याकांड की गुत्थी भी पुलिस के द्वारा न तो सुलझाया गया और न हीं अपराधियों की गिरफ्तारी हो सकी। अब इस घटना की सीबीआई या सीआईडी जाँच की मांग संघर्ष समिति के द्वारा की जा रही है। इसलिए दर्जनों की संख्या में हमलोग पद यात्रा पर निकले हैं। साथ हीं पीड़ित परिवार को 25 लाख मुआवजे एवं परिवार के सदस्य को सरकारी नौकरी देने की मांग लगातार की जाती रही। जिला प्रशासन के द्वारा किसी तरह का सहयोग उपलब्ध नहीं कराया गया है। संयोजक मंडल के लोगों ने बताया कि महापदयात्रा 17 नवंबर शुक्रवार को पिरहो गाँव से शुरू होकर 20 नवंबर को पटना पहुँच कर राजभवन एवं मुख्यमंत्री जी तक मिलने के लिए पदयात्रा करने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने बताया कि 20 नवंबर को पटना पहुँचकर राज्यपाल महोदय एवं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलकर न्याय की गुहार लगाएंगे। संघर्ष समिति के संयोजक मनोज सिंह यादव ने कहा कि जबतक रमता को इंसाफ नहीं मिल जाता है तबतक हमलोंगो का आंदोलन अनवतर जारी रहेगा।

Check Also

मनु महाराज केन्द्रीय प्रतिनियुक्ति पर ITBP के नये डीआईजी, 7 IAS और 5 IPS का तबादला संजय सिंह बने स्वास्थ्य विभाग के विशेष सचिव

डेस्क : भारतीय प्रशासनिक सेवा के 7 अधिकारी बदले गए हैं। वहीं दूसरी सेवाओं से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *