Breaking News

बिहार :: भाजपा के पूर्व विधायक के विरूद्ध महिला ने दर्ज करायी प्राथमिकी

बेगूसराय- आरिफ हुसैन, संवाददाता: भाजपा नेता व तेघड़ा के पूर्व विधायक ललन कुंवर एक बार फिर विवादों के घेरे में हैं। उनके विरूद्ध एक महिला ने तेघड़ा थाना में केस संख्या 287/17 दर्ज कराते हुए इंसाफ की गुहार पुलिस से लगायी है। पीड़िता तेघड़ा थाना क्षेत्र के पिढ़ौली निवासी जितेन्द्र यादव की पत्नी चन्द्रकला देवी ने थाना को दिये आवेदन में बताया कि 9 अक्टूबर की रात्रि 12 बजे तेघड़ा के पूर्व विधायक ललन कुंवर पिता स्वर्गीय राजनारायण कुंवर, दीपक कुमार उर्फ बड़का बउआ पिता स्वर्गीय राघवेन्द्र कुंवर, चंदन कुंवर पिता गणेशी कुंवर, नित्यानंद कुंवर पिता स्वर्गीय रामदेव कुंवर, अरविंद कुंवर पिता गौरी कुंवर, गोपाल कुमार पिता सुवंश कुंवर, अरूण कुंवर पिता स्वर्गीय भागीरथ कुंवर अज्ञात आठ-दस लोगों के साथ उसके घर में प्रवेश कर गये और उसके पति के गर्दन में गमछा लगाकर फांसी खिंचने लगे जिसका विरोध उसके द्वारा करने पर मारपीट, गाली गलौज और आंचल पकड़ कर खिंच लिया गया जिससे वह अर्द्धनग्न अवस्था में जमीन पर गिर पड़ी। पूर्व विधायक ललन कुंवर उसके गिरने पर बोलने लगे दो दिनों के अन्दर अपने बाल-बच्चे के साथ गांव से चले जाओ और कल से समिति पर नहीं जाना। पीड़िता ने बताया सभी हथियार से लैश थे वहीं अरूण कुंवर के हाथ में साईकिल का चैन था जबकि पूर्व विधायक ललन कुंवर के हाथ में पिस्तौल और एक डंडा था। साथ ही बताया कि इन लोगों के खिलाफ एसपी से शिकायत की गयी थी जिसकी जानकारी उन्हें मिल गयी। पीड़िता ने आशंका व्यक्त किया कि उन लोगों के द्वारा पति एवं बच्चों की हत्या करवायी जा सकती है। शोर मचाने पर पीड़िता के देवर, देवरानी व पड़ोसी इस घटना को देखे हैं। पीड़िता ने पुलिस से अपने एवं अपने परिवार की सुरक्षा की गुहार एवं दोषी पर कार्रवाई करने की मांग की है। गौरतलब हो कि भाजपा नेता व पूर्व विधायक ललन कुंवर पूर्व में भी विवादों में रहे हैं। उनपर पूर्व में पिढ़ौली की एक महिला शोभा देवी की हत्या का मुकदमा नम्बर 115/16 दर्ज है। साथ ही सड़क निर्माण करने वाली कम्पनी जेकेएम इन्फ्रास्टेक्चर से रंगदारी मांगने का भी आरोप है।

Check Also

योगीता फाउंडेशन :: मन, वचन व कर्म में समानता रखने वाले गांधी व शास्त्री ने आत्मनिर्भर समाज का देखा था सपना- मनोज शर्मा

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट दरभंगा : राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का जीवन दर्शन एवं …

Leave a Reply

Your email address will not be published.