Breaking News

बिहार :: सरदार पटेल के रास्ते पर चल कर हीं नया भारत का हो सकता निर्माण – श्रवण

राजगीर : पटेल जयंती के मौके पर शहर के पटेल चौक पर स्थित सरदार बल्लभ भाई पटेल की आदमकद प्रतिमा पर मंगलवार को ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार व विधायक रवि ज्योति कुमार ने माल्यार्पण किया। जयंती समारोह में भाग लेते हुए ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार ने कहा कि पटेल जी के बताये रास्ते पर ही चलकर नया भारत बनाया जा सकता है। पटेल जी के बताये रास्ते पर ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार चल रहे हैं। सरदार पटेल ने किसानों को संगठित करने का काम किया था। उनका मानना था कि समाज में भाईचारा, प्रेम बना रहे। सबों को संकल्प लेकर पटेल जी के बताये रास्ते पर चलना चाहिए। श्री कुमार ने कहा कि सरकारी स्तर पर पटेल जी उपेक्षा हुई है इससे इंकार नहीं किया जा सकता है। हालांकि गैर सरकारी संगठनों में उनके नाम पर सबसे ज्यादा नाम दिया है। पटेल जी के विचार को जीवन में उतारना होगा। सांसद कौशलेन्द्र कुमार ने कहा कि पटेल जी ने देश की अखंडता व एकता को बनाये रखने में अहम भूमिका निभायी थी। उन्होंने कहा कि अगले साल राजगीर में और भी भव्य तरीके से जयंती मनायी जाय। विधान पार्षद हीरा प्रसाद बिन्द ने कहा कि पटेल जी सबों को साथ लेकर चलने वाले व्यक्ति थे। इस मौके पर सांसद कौशलेन्द्र कुमार, विधान पार्षद हीरा प्रसाद बिन्द, बिहारशरीफ की मेयर वीणा देवी, जदयू नेता डॉ. जगदीश प्रसाद, सियाशरण ठाकुर, रामकृष्णा प्रसाद, राजेन्द्र प्रसाद, जदयू महिला सेल की प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य अनीता गहलौत, मुखिया अनीता देवी, वार्ड पार्षद डॉ. अनिल कुमार, डॉ. विमलेन्द्र कुमार सिन्हा, प्रसिद्ध डेंटिस्ट डॉ. चन्द्रमणि कुमार, जयराम सिंह, संतोष प्रसाद, अंडबस के मरगूब अहसन उर्फ चेयरमैन साहब, नईम अख्तर, प्रमुख जीतेन्द्र राजवंशी, उप प्रमुख सुधीर कुमार, पूर्व उपमुख्य पार्षद श्यामदेव राजवंशी, इंस्पेक्टर विजेन्द्र कुमार सिन्हा, वार्ड पार्षद सुबेन्द्र राजवंशी, जगलाल चौधरी, उमरांव प्रसाद, अरूण कुमार वर्मा, रामचंद्र चौहान, रामकुमार मंडल, धनंजय देव, डा सुनील दत्त, मनोज, मीरा, बादल, धीरेन्द्र कुमार, श्याम प्रसाद सहित अन्य मौजूद थे।

Check Also

आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना एक दिवसीय कार्यशाला दरभंगा डीएमसीएच ऑडिटोरियम में आयोजित

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट : स्वास्थ्य विभाग, बिहार सरकार द्वारा निर्गत पत्र के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *