Breaking News

रैली Live :: सियासी लड़ाई को लेकर तेजप्रताप ने शंख बजाकर कहा – मेरा अर्जुन है मेरा भाई तेजस्वी

पटना : “भाजपा भगाओ-देश बचाओ रैली” में मंच से लालू पुत्र व बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव ने लालू के अंदाज में भाषण देकर खूब तालियां बटोरी। मंच से अपने संबोधन में तेजप्रताप यादव ने कहा कि हमारे पिता ने नीतीश कुमार जी का नाम पलटू राम रखा रखा है और सुशील मोदी जो आ के सलटा देते हैं। एक घंटा में खेला करने का काम किया। रातों-रात नीतीश कुमार और सुशील मोदी बियाह कर लेते हैं। आज जो हमारा दिल गदगद हो गया मेरे भाई।  मैं सोउंगा नहीं, सांस नहीं लूंगा, जब तक बीजेपी के राज को नहीं छीन लूंगा।

राजद की रैली को भगवान कृष्‍ण भी देख रहे हैं। मौसम भी हमारे साथ है। मेरा भाई तेजस्‍वी मेरा अर्जुन है। आज मैं शंखनाद करूंगा, जैसे भगवान श्रीकृष्‍ण ने किया था। बीजेपी में कोई नेता शंख नहीं बजा पायेगा। नीतीश कुमार जी का जान ही निकल जायेगा।

  • तेजप्रताप यादव ने पटना रैली में किया शंखनाद।
  • नीतीश कुमार एक 28 साल के नौजवान से डर गए
  • तेजप्रताप यादव ने जनता से बीजेपी और नीतीश कुमार को उखाड़ने की बात कही।
  • मेरा अर्जुन मेरा भाई तेजस्वी है
  • कहीं न कहीं बिहार की इस रैली को भगवान कृष्ण भी देख रहे हैं।

अब लड़ाई शुरू हो गया है। मैं पूछना चाहता हूं कि बीजेपी और नीतीश कुमार को उखाड़ना है कि नहीं? नीतीश जी कहते थे कि मिट्टी में मिल जाउंगा, लेकिन आरएसएस के साथ नहीं जाउंगा। लेकिन आज उसी की गोद में चले जायेंगे। आरएसएस वाले हाफ पैंट पहनते हैं क्‍योंकि उनका दिमाग हाफ है। हमारा संगठन डीएसएस आरएसएस के खिलाफ सभी लोगों को साथ लाने का काम करेगा। हिन्‍दू, मुसलिम, सिख और ईसाई सब साथ रहेंगे।

जदयू के बागी नेता शरद यादव ने कहा कि आज बिहार में पूरे देश की तरफ से यह संग्रामी सभा रखी गई है। अफसोस मुझे है कि 440 लोग जो पानी से जान गंवाया। जब कोसी का जलजला आया था तो मैं उस समय वहां का सांसद था, तब कांग्रेस सरकार ने 1000 करोड़ दिया था। कामना करता हूं कि ऐसे भारत का निर्माण हो, जहां इस तरह से किसी की जान न जाये। 

हमारी जिंदगी का ऐसा दौर है, जब छाया भी हमारे खिलाफ है। सारा देश यहां बैठा था, यहां के गरीब लोगों ने हमसे ज्‍यादा मेहनत की। इसी मंच पर भाजपा के खिलाफ महागठबंधन बना था। ऐसा इंकलाब किया कि जो लोग सोचते थे कि कोई हमारा रथ नहीं रोक सकता, बिहार के लोगों ने उसे बुरी तरह से पटखनी है।

इस बार जिस हालत में देश है, वह बहुत ही बुरा है। एक तरफ देश में किसान आत्‍महत्‍या कर रहा है, तो दूसरी ओर किसानों की हत्‍या की जा रही है। लेकिन बिहार की जनता ने, यहां की किसानों ने जो किया उससे पूरी सरकार हिल गई। बिहार में महागठबंधन तोड़ने वालों को मैं ज्‍यादा कुछ नहीं कहूंगा। महागठबंधन टूटने का जख्‍म दिल पर है। लेकिन ये जान लें कि पूरे हिन्‍दुस्‍तान में गठबंधन बनेगा।

हरियाणा में जो हुआ, पूरे देश की जनता देख रही है। ट्रेन जली, बस जले, मकान जलाये गये। ये वही लोग हैं, जो बाबा के साथ फोटो खिंचवाते थे और उनके पैर पड़ते थे।

मैंने कई लोगों को मुख्‍यमंत्री बनाया, लेकिन कभी खुद कुर्सी पर बैठने की लालसा नहीं रही। मैंने उनकी खिदमत की है। उन्‍होंने भी की है। लेकिन जनता से बड़ा तो कोई मालिक नहीं है। हमें 70 सालों के भारत को पांच साल में बदलना है। संघर्ष का समय आ गया है। बिहार की जनता को फिर से इंकलाब लाना है।

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि आज यहां पूरे देश के नेताओं का जुटान है। हमने पिछले 3-4 सालों से विपक्षी दलों की मीटिंग की। हमेशा 17-18 दलों के नेता ने शिरकत की। यह देश की पहली जनसभा है, जहां दिल्‍ली के बाद इतनेे सारे दल के नेता मौजूद हैं। यह गठबंधन जिसकी बुनियाद बिहार से रखी गई थी। यही मंच था, यही लोग थे। हमारे कांग्रेस के अध्‍यक्ष और उपाध्‍यक्ष भी मौजूद थे। बिहार की जनता से वादा किया था कि हम बिहार की 11 करोड़ जनता की तरफ से शपथ लेते हैं कि जनता को न्‍याय देने के लिए महागठबंधन बनायेंगे। जदयू, राजद और कांग्रेस ने मिलकर भाजपा को पटखनी दी।

पीएम मोदी और उनके सारे मंत्रिमंडल के लोग यहां आये। भाजपा के लोगों ने 26 हेलिकॉप्‍टर और 6 हवाई जहाज उड़ाये, वहीं महागठबंधन के मात्र 4 हेलिकॉप्‍टर। पैसा का कोई हिसाब नहीं। लेकिन उस पैसे की ताकत के साथ हमने लड़ाई लड़ी। 11 करोड़ हमारे भाईयों ने हमें साथ दिया और बीजेपी को पराजय दी। लेकिन जिस मंच से हमने वादा किया था जनता को न्‍याय देने का, उस मंच से एक आदमी गायब है, वह हैं नीतीश कुमार।

नीतीश कुमार ने 11 करोड़ जनता को धोखा दिया। उनके वोट को बीजेपी को बेच दिया। अाप असली जदयू नहीं है। असली जदयू शरद यादव हैं। नीतीश कुमार को दुबारा इलेक्‍शन लड़ना चाहिए। उनको यह हक नहीं की शादि किसी और से करें और भाग किसी और के साथ जायें। शादी यहां हुई है। कोई अदालत ने उनको तलाक नहीं दिया है।

अापसे तो 1 साल में ही धोखा हुआ। लेकिन भाजपा के सवा सौ करोड़ लोगों को भाजपा ने धोखा दिया। युवकों को धोख दिया, युवतियों को धोख दिया। भाजपा वाले बच्‍चों के कातिल हैं। जब घटना हुई तो सबसे पहले मैं पहुंच गया। लेकिन भाजपा और उसके मुख्‍यमंत्री नहीं पहुंचे।

अाज से 10 साल पहले जब बिहार में बाढ़ आयी थी तो कांग्रेस की सरकार ने 1000 करोड़ दिये थे लेकिन आज मोदी सरकार ने मात्र 500 करोड़ दिये हैं। मोदी सरकार के दिन पूरे हो गये हैं। कोई भी उनसे डरने वाला नहीं है।

कांग्रेस नेता सीपी जोशी ने सोनिया गांधी के रिकार्डेड मैसेज भी मंच पर दिखाया गया। सोनिया गांधी ने अपने मैसेज में कहा कि मैं सभी को यह भरोसा दिलाती हूं कि समाजिक भरोसे और सर्वजन हिताय और सर्वजन सुखाय के रास्‍ते पर हमें चलना है।

इस रैली का आयोजन ऐसे समय में हो रहा है जब कट्टरता के बीज नये सिरे से बोये जा रहे हैं। आज मुल्‍क की सत्‍ता में बैठे लोग चाहते हैं कि जनता मूर्ख बनी रहे। बिहार में जनादेश का जैसा अपमान हुआ, यह पूरे देश का अपमान है। यह रैली उस प्रदेश में हो रही है, जहां चंपारण आंदोलन और भारत छोड़ोें आंदोलन शुरू हुआ था। हमें एक ऐसी सरकार के खिलाफ डटकर खड़ा होना है, जो झूठे सपने दिखाकर सत्‍ता में आया। आप ही बतायें कि इस सरकार ने कितने लोगों को रोजगार दिया। उल्‍टे रोजगार छीन लिया गया। बच्‍चों की अस्‍पताल में जान जा रही है।

सत्‍ता के संरक्षण में अनर्गल विचारों को थोपने का जो काम हो रहा है, वैसा कभी नहीं हुआ है। आज यह तय करने का वक्‍त आ गया है कि हम इतिहास के किस धारा के साथ चलेंगे। हम उस रास्‍ते पर चलेंगे, जो हमें बापू ने सिखाया है आैर पूरी दुनिया में सम्‍मानजनक पहचान बनायी है। भारत की विविधिता, उदारता और अखंडता को हम सब को मिलकर रक्षा करनी है। आज की रैली में अलग-अलग उंगलियों को एक कर के मजबूत मुट्ठी बना दिया है। 

– झामुमो नेता हेमंत सोरने ने मंच से कहा कि इस ऐतिहासिक मैदान से देश को बचाने की आवाज निकली है। उस आवाज को उठाने वाले लालू यादव को हम धन्‍यवाद देते हैं। यह जनसैलाब व्‍यवस्‍था के खिलाफ आक्रोश है। नौजवान साथियों से कहूंगा कि हमारे पूर्वजों ने देश की एकता और अखंडता को बचाने के लिए काफी मेहनत किया है। लेकिन दुर्भाग्‍य की बात है कि देश पर ऐसी साप्रदायिक ताकत का शासन है जो इसे तोड़ने में लगी है। दलितों से दलितों को और पिछड़ों को पिछड़ों से लड़ाने का कम कर रही है ।

इस डिजिटल इंडिया के सरकार में 19 करोड़ लोग भूखे सोते हैं। ये लोग आज तक मात्र साढ़े 6 लाख रोजगार ही पैदा करने में सक्षम हो सके हैं। जितने भी बातें कही, वह जुमला साबित हुआ। खाते में 15 लाख देने की बात कही थी, लेकिन पैसा तो आया नहीं, घर का भी पैसा निकलवा लिया।

हमारा देश कृषि प्रधान देश है, लेकिन कहीं किसान सड़कों पर सब्‍जी फेंकने को मजबूर हो रहे हैं तो कहीं दूध फेंक रहे हैं। आज ये देश अजीब हालात से गुजर रहा है। देश अजीब भंवर में फंस गया है। इससे इसको निकालने की जरूरत है। उम्‍मीद है कि हम सब एकसाथ मिलकर देश से भंवर को निकालने का प्रयास करेंगे। भाजपा को गोवा से लेकर पूरे देश में कहीं भी बहुमत नहीं मिला, लेकिन भाजप सरकार बनाती है। ये धर्म के लूटरे के साथ-साथ लोकतंत्र के भी लूटेरे हैं। इन देशद्रोहियों और राष्‍ट्रदोहियों को जवाब देना है।

आज पूरे देश में आक्रोश है। दलितों, पिछड़ों को सताया जा रहा है। गुजरात में नंगा कर पीटा जा रहा है। आवाज उठाने पर जेल में डाल दिया जाता है। यह व्‍यापारियों की पार्टी है। चाणक्‍य ने कहा है कि जिस देश का राजा व्‍यापारी होता है, उस देश की प्रजा भिखारी होती है। आज हमें इन व्‍यापारियों को देश की सत्‍ता से हटाने का संकल्‍प लेना है।

Check Also

अब पेट्रोल पंपों से भी मिलेगा “छोटू” सिलेंडर

– छोटे उपयोगकर्ताओं के लिए कम कम औपचारिकता का कनेक्शन– 5 किलो वाला एलपीजी सिलेंडर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *