Breaking News

बिहार :: लालू परिवार की 175 करोड़ की बेनामी संपत्ति जब्त, आईटी विभाग द्वारा 12 कुर्क संपत्तियों की लिस्ट जारी

पटना : बेनामी संपत्ति मामले में लालू परिवार पर आयकर विभाग ने अपना शिकंजा और कस लिया है. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने जब्त की गई 12 संपत्तियों की लिस्ट जारी की है, जो कथित रूप से लालू फैमिली के नाम पर है.

ये संपत्तियां पटना और दिल्ली में हैं. मसलन, नई दिल्ली के विजवासन में फार्महाउस और न्यू दिल्ली फ्रांइड्स कॉलोनी में बंगला है. आईटी डिपार्टमेंट के मुताबिक, अटैच की गई इन बेनामी संपत्तियां का मालिकाना हक लालू के रिश्तेदारों के पास है.

विजवासन में शानदार फार्म हाउस मिशाली पैकर्स एंड प्रिंटर्स प्राइवेट लिमिटेड के नाम रजिस्टर्ड है, लेकिन असली मालिकाना हक लालू प्रसाद यादव की बेटी मीसा भारती और उनके पति शैलेष कुमार के नाम बताया जा रहा है.

वहीं, न्यू फ्रांइड्स कॉलोनी स्थित बंगला एबी एक्सपोर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड के नाम है. लेकिन इसके असली मालिक तेजस्वी यादव और उनकी बहन चंदा यादव व रागिनी यादव है.

 

दिलचस्प बात यह है कि जैसे ही इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने बेनामी संपत्ति की यह लिस्ट जारी की, तेजस्वी यादव ने इसे नकार दिया.

तेजस्वी की दलील
तेजस्वी ने कहा, ‘यह हमारे परिवार के खिलाफ राजनीतिक साजिश है. मुझे इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की तरफ से इस संबंध में कोई नोटिस नहीं मिला और ना ही आयकर विभाग की किसी कार्रवाई की मुझे कोई जानकारी है. हमलोगों से जो भी सवाल पूछे गए थे, हमने कानूनन जवाब दे दिया है.’

लालू फैमिली की जो संपत्ति आईटी डिपार्टमेंट ने जब्त की है, उसका मार्केट वैल्यू करीब 175 करोड़ रुपए है, वहीं बुक वैल्यू इसकी 9.32 करोड़ रुपए है.

बेनामी संपत्ति मामले में लालू प्रसाद यादव, राबड़ी देवी (पत्नी), मीसा भारती (बेटी) और तेजस्वी यादव (बेटा) के खिलाफ आयकर विभाग ने केस दर्ज किया है और इन लोगों को नोटिस भी भेजा गया है. आयकर विभाग ने लालू परिवार को समन भेजकर इन संपत्तिओं के बारे में पूरी जानकारी देने को कहा है.

बेनामी संपत्ति के मामले में आईटी डिपार्टमेंट पहले भी मीसा भारती और उसके पति शैलेष को पेश होने के संबंध में नोटिस जारी कर चुका है, लेकिन वे लोग पेश नहीं हुए. ये नोटिस तब भेजे गए, जब चार्टर्ड अकाउंटेंट संजय अग्रवाल को मनी लॉन्ड्रिंग केस में गिरफ्तार किया गया था. संजय अग्रवाल मीसा भारती के लिए काम करता था.

कुर्क संपत्तियां-

1. दिल्ली स्थित बिजवासन के पालम इलाके वाले फार्म हाउस को कुर्क किया गया है. बिजवासन वाले फार्म हाउस मामले में बेनामी डील का आरोप है. यह मिशेल पैकर्स एंड प्रिंटर्स प्राइवेट लिमिटेड के नाम रजिस्टर्ड है. इनकम टैक्स के सूत्रों के मुताबिक, इस डील से मीसा भारती और शैलेष को फायदा हुआ.

2. दिल्ली के न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी के डी ब्लॉक स्थित प्लॉट नंबर- 1088. इसमें बेनामी डील का आरोप है. यह एबी एक्सपोर्ट के नाम रजिस्टर्ड है. इस डील से फायदा हुआ- तेजस्वी यादव, चंदा यादव, रागिनी यादव को. दिखाई गई इस प्लॉट का अनुमानित मूल्य है- पांच करोड़, लेकिन बाजार मूल्य है- 40 करोड़ रुपए.

3. इनकम टैक्स ने पटना के दानापुर स्थित जलपुर इलाके में 9 अन्य प्लॉट कुर्क किया है. इस प्लॉट के बेनामी डील कराने का आरोप है- डिलाइट मार्केटिंग प्राइवेट लिमिटेड पर. इस डील से फायदा पहुंचा है- राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव को. इस प्लॉट का मूल्य बताया गया- 19 करोड़, जबकि इनकम टैक्स के सूत्रों के मुताबिक इसकी बाजार मूल्य है 65 करोड़ से ज्यादा.

4. पटना के दानापुर इलाके में जलपुर के 3 अन्य प्लॉट भी कुर्क किया गया है. इस प्लॉट की बेनामी डील करने का आरोप है- एके इन्फो सिस्टम कंपनी पर. इस डील से फायदा हुआ- राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव को. इस डील में तीनों प्लॉट का मूल्य बताया गया करीब- 1.6 करोड़ रुपए, जबकि इनकम टैक्स के सूत्रों के मुताबिक इसकी बाजार मूल्य करीब 20 करोड़ से ज्यादा है.

Check Also

LNMU :: हिंदी विभाग में नवचयनित सहायक प्राध्यापकों को किया गया सम्मानित

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट दरभंगा : ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के हिंदी विभाग …