Breaking News

रक्षाबंधन :: राखी बांधने का शुभ मुहूर्त पूरे दिन में मात्र दो घंटे 52 मिनट

डेस्क : सात अगस्त को इस वर्ष भाई बहन का महापर्व रक्षाबंधन है. रक्षाबंधन के दिन इस बार चंद्रग्रहण का योग है. रक्षाबंधन के पूरे दिन महज 2 घंटा 53 मिनट ही राखी बांधने का शुभ मुहूर्त होगा. हालांकि ग्रहण रात्रि में लगेगी लेकिन इसका सूतक दोपहर से ही शुरू हो जायेगा. जबकि रक्षाबंधन के दिन सुबह 10.30 बजे तक भद्रा रहेगी.

ज्योतिषाचार्यों की मानें तो ग्रहण के सूतक काल और भद्रा काल में राखी बांधना वर्जित है. ऐसे में इस बार रक्षाबंधन के दिन पूरे दिन महज 2 घंटा 53 मिनट ही राखी बांधने का शुभ मुहूर्त होगा. लिहाजा दिन के 11.05 बजे से दोपहर के 1.52 से पहले बहने अपने भाई को राखी बांध सकती हैं. ज्योतिष ने बताया कि 7 अगस्त को सावन पूर्णिमा यानि रक्षाबंधन के दिन लगने वाला खग्रास चंद्रग्रहण श्रवण नक्षत्र एवं मकर राशि पर लगेगा. बिहार में इस चंद्रग्रहण का स्पर्श रात में 10 बजकर 52 मिनट पर होगा. ग्रहण का मध्य रात्रि 11 बजकर 51 मिनट पर तथा मोक्ष रात्रि 12 बजकर 49 मिनट पर होगा. यानि ग्रहण की अवधि कुल एक घंटा 57 मिनट की होगी. ग्रहण का प्रारंभ रात्रि 10 बजकर 52 मिनट पर होगा,

परंतु ग्रहण का सूतक दिन में 1 बजकर 52 मिनट से ही प्रारम्भ हो जाएगा. लिहाजा इससे पूर्व रक्षा बंधन का पुनीत कार्य कर लेना होगा. इस दिन भद्रा भी सूर्योदय से लेकर सुबह 10 बजकर 30 मिनट तक होगा. लेकिन, भद्रा का असर दिन में लगभग 11:05 बजे तक रहेगा. ऐसे में रक्षाबंधन से संबंधित समस्त कार्य दिन में 11 बजकर 05 मिनट से लेकर दोपहर एक बजकर 52 मिनट तक कर लेना होगा. इसी अवधि में ही विप्रजन भी श्रावणी उपाकर्म करेंगे. इस वर्ष श्रवण नक्षत्र सोमवार से युक्त श्रावणी पूर्णिमा अत्यन्त पुण्यफल दायक है.

Check Also

दो दिवसीय किसान मेला का आज हुआ समापन

दरभंगा, सुरेन्द्र चौपाल :- संयुक्त कृषि भवन, बहादुरपुर के प्रांगण में दो दिवसीय किसान मेला …