Breaking News

बिहार :: ‘स्पेशल सेल फॉर विमेन’ में महिलाओं को परामर्श द्वारा करें भावनात्मक सहयोग – राष्ट्रीय महिला आयोग

दरभंगा : समाहरणालय अवस्थित बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेदकर सभागार में राष्ट्रीय महिला आयोग, भारत सरकार के सदस्या सुषमा साहु की अध्यक्षता में महिलाआें के लिए विशेष प्रकोष्ठ के कार्यकलापों
की समीक्षात्मक बैठक आहूत की गई। महिलाओं के लिए विशेष प्रकोष्ठ (स्पेशल सेल फॉर विमेन) का गठन राष्ट्रीय
महिला आयोग (भारत सरकार) एवं टाटा सामाजिक विज्ञान संस्थान (मुम्बई) के द्वारा संयुक्त रूप से किया गया है। बिहार राज्य में दरभंगा के अलावा भागलपुर, गया, पूर्वी चम्पारण एवं किशनगंज जिले में यह कार्यरत है। इस विशेष प्रकोष्ठ काे हिंसा से ग्रसित महिलाआें के लिए सुरक्षित जगह के रूप में चिन्ह्ति किया गया है। यहाँ घरेलू
हिंसा, शारीरिक उत्पीड़न, पीछा करना(स्टॉकिंग), दहेज की माँग, मानसिक एवं भावनात्मक प्रताड़ना, लैंगिक हिंसा, कार्यस्थल पर उत्पीड़न, समाजिक कुरीतियाँ से
ग्रसित महिलाआें को काउन्सिलिंग के साथ कानूनी सहायता निःशुल्क उपलब्ध कराया जाता है। बैठक को सम्बोधित करते हुए राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्या ने बताया कि विशेष महिला प्रकोष्ठ में महिलाओं को परामर्श के द्वारा भावनात्मक सहयोग उपलब्ध कराना आवश्यक है। परिवार एवं समुदाय इत्यादि के साथ बैठकों के द्वारा महिलाओं के सहारे की व्यवस्था, जरूरत के अनुरूप पुलिस मदद देना, कानूनी जानकारी प्रदान करना/कानूनी सहायता से जोड़ना, महिला के हित में पुरूष के साथ हस्तक्षेप कर हिंसा को रोकना आदि कार्यों काे प्राथमिकता से संपादित किया जाना है। इसके अतिरिक्त पीड़ित महिलाआें को अन्य सेवाओं के माध्यम से जोड़ना एवं सम्प्रेशन आवश्यक होगा। जैसे उन्हें आश्रय उपलब्ध कराना, व्यवसायिक प्रशिक्षण देना। महिलाओं के खिलाफ हिंसा के मुद्दों पर दस्तावेजीकरण, अनुसंधान एवं पहल करना भी इसके कार्यकलापों में शामिल है। इसके अलावा सदस्या ने महिला हेल्पलाईन एवं उसके अन्तगर्त बने वन स्टॉप सेन्टर के कार्यकलापों की भी समीक्षा की। इन सबों के कार्यकलापों पर संताेष व्यक्त करते हुए इसके सुदृढ़ीकरण एवं उन्नयन हेतु और प्रयास करने की आवश्यकता बतायी। ताकि महिलाओं के खिलाफ हो रहे अत्याचाराें पर प्रभावी ढ़ंग से राेक लगाया जा सके। जिला पदाधिकारी, दरभंगा डॉ0 चन्द्रशेखर सिंह ने अपने उद्बोधन में स्पेशल सेल फॉर विमेन (महिला थाना) के व्यापक प्रचार-प्रसार की आवश्यकता बताते हुए इस पर तत्काल कार्रवाई प्रारंभ करने का आश्वासन दिया एवं बैठक में जानकारी दी कि महिला हेल्पलाईन का नया आधुनिक भवन बनाने का कार्य समाहरणालय परिसर में ही प्रारंभ हो गया है, इसके जल्द ही पूरा हाे जाने के पश्चात् पीड़ित महिलाआें काे एक ही छत के नीचे सभी सुविधाएँ उपलब्ध करायी जाएगी। वरीय पुलिस अधीक्षक सत्यवीर सिंह ने बताया कि दरभंगा जिला में हेल्पलाईन और वन स्टॉप सेन्टर प्रभावकारी ढ़ंग से कार्यरत है। महिला थाना में संसाधन एवं कार्यबल की कमी से कार्य प्रभावकारी ढ़ंग से संपादित नही हाे पा रहा है। अंत में जिलाधिकारी ने सदस्या का दरभंगा आने एवं बैठक करने पर उन्हें धन्यवाद ज्ञापित किया। 

उक्त बैठक में पुलिस उपाधीक्षक दिलनवाज अहमद, वरीय उप समाहर्त्ता-सह- विशेष कार्य पदाधिकारी रवीन्द्र कुमार दिवाकर, जिला कल्याण पदाधिकारी सत्येन्द्र नारायण चौधरी, जिला जन सम्पर्क पदाधिकारी कन्हैया कुमार, महिला हेल्पलाईन की प्रभारी पदाधिकारी व अन्य संबंधित पदाधिकारीगण उपस्थित थे।

Check Also

LNMU :: हिंदी विभाग में नवचयनित सहायक प्राध्यापकों को किया गया सम्मानित

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट दरभंगा : ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के हिंदी विभाग …