Breaking News

बिहार :: सिम्मी सलोनी हत्याकांड, अपनों ने ही ले ली जान

दरभंगा : बैडमिंटन खिलाड़ी सिम्मी सलोनी की हत्या या आत्महत्या की बहुचर्चित मामले की गुत्थी दरभंगा पुलिस ने सुलझा ली है। पुलिस की मानें तो सिम्मी सलोनी ने खुदकुशी की थी। बैडमिंटन खिलाड़ी सिम्मी सलोनी को अपनी बहन रिम्मी सलोनी द्वारा दी जा रही शारीरीक व मानसिक प्रताड़ना से तंग आकर यह कदम उठाना पड़ा। अपनों ने ही ले ली सिम्मी की जान ऐसा कहा जा सकता है क्योंकि सिम्मी की बहन रिम्मी ने 21 जुलाई को उसके साथ मारपीट की थी। इसी के बाद सिम्मी ने 22 जुलाई की सुबह जल संसाधन विभाग स्थित पानी टंकी से छलांग लगाकर खुदकुशी की थी। पुलिस ने सिम्मी सलोनी के परिजनों से बुधवार को बहादुरपुर थाना में गहन पूछताछ की। उसके पिता से भी एसएसपी ने अपने कार्यालय में पूछताछ की। इसके बाद मामले का खुलासा किया गया। 

घटना के लगभग 18 दिन बीत जाने के बाद बुधवार को पुलिस कार्यालय में आयोजित प्रेसवार्ता में सत्यवीर सिंह ने दावा किया कि गहन जांच के बाद पुलिस ने इसका खुलासा किया है। सिम्मी को खुदकुशी के लिए उकसाने के आरोप में पुलिस ने बड़ी बहन रिम्मी सलोनी को गिरफ्तार कर लिया है। एसएसपी ने बताया कि गहन जांच, पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट, फॉरेसिंक एक्सपर्ट व एफएसएल की रिपोर्ट के आधार पर मामले का खुलासा किया गया। सिम्मी की मौत को लेकर फॉरेंसिक एक्सपर्ट व एफएसएल की रिपोर्ट मेल खा रही है। एसएसपी ने बताया कि कुछ लोगों ने सिम्मी सलोनी के पिता के दिमाग में बात डाल दी थी कि असलियत बताने पर उनलोगों को जेल की हवा खानी पड़ सकती है। एसएसपी ने बताया कि जांच के दौरान घटनास्थल पर सिम्मी सलोनी की चप्पल, खून का नमूना, पानी टंकी के कमरे का टूटा हुआ ताला सहित कई सामान जब्त किए गए थे।

 तकनीकी अनुसंधान के अलावा सिम्मी के परिजनों से कई बार गहराई से पूछताछ की गई। उनके बयान की वीडियोग्राफी कराई गई थी। एसएसपी ने बताया कि जांच के दौरान पता चला कि सिम्मी बैडमिंटन की अच्छी खिलाड़ी थी। पिछले कुछ महीनों से वह कमर के दर्द से परेशान थी। इस वजह से एक महीने से डिप्रेशन में रह रही थी। एसएसपी ने बताया कि घटना के दिन सिम्मी की बड़ी बहन रिम्मी ने उसके साथ मारपीट की थी। मारपीट के दौरान सिम्मी के चेहरे पर अंगूठी से कई जख्म आ गए थे। सिम्मी का शव देखने के बाद ही शक हो गया था कि उसके शरीर पर कई पुराने जख्म के निशान भी हैं। मारपीट की सूचना मिलने पर उसके पिता दोपहर को ही समस्तीपुर से घर लौट आए थे। मारपीट के दौरान सिम्मी की मां को भी हल्की चोट आई थी। इस बात को परिजनों ने छिपाया था। हालांकि पूछताछ के दौरान सिम्मी के घर पर रहने वाले उसके एक चाचा ने इस बात का खुलासा किया था। एसएसपी ने बताया कि सिम्मी को तत्कालिक तौर पर खुदकुशी के लिए उत्प्रेरित करने के आरोप में उसकी बड़ी बहन रिम्मी को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

गौरतलब है कि दरभंगा जिले की बैडमिंटन चैंपियन सिम्मी सलोनी राष्ट्रीय स्तर की जूनियर बैडमिंटन खिलाड़ी थी। वह कई पदक जीत चुकी थी। प्रतिभा की धनी सिम्मी बैडमिंटन के क्षेत्र में देश का नाम रोशन करना चाहती थी, मगर उसकी यह इच्छा पूरी नहीं हो सकी। 

बताते चलें कि सिम्मी खिलाड़ी होने के नाते रोज सुबह सवेरे दौड़ने के लिए घर से निकलती थी। घटना वाले दिन भी वह अपने घर वाटरवेज कॉलोनी से करीब साढ़े चार बजे सुबह घर से निकली पर तीन-चार घंटे बीत जाने के बाद भी वह घर नहीं लौटी। तब उसके परिजन सलोनी को खोजने निकले पर सलोनी कहीं नहीं मिली. परिजनों ने सभी रिश्तेदारों और परिचितों को फोन किया लेकिन सलोनी का कुछ पता न चला। छानबीन के दौरान सलोनी के भाई को घर के पास स्थित पानी की टंकी के कैंपस में सलोनी की लाश दिखी। बहरहाल समूचा दरभंगा एक नेशनल लेवल की खिलाड़ी को खोने के सदमे में डूबा हुआ है।

Check Also

अब पेट्रोल पंपों से भी मिलेगा “छोटू” सिलेंडर

– छोटे उपयोगकर्ताओं के लिए कम कम औपचारिकता का कनेक्शन– 5 किलो वाला एलपीजी सिलेंडर …