Breaking News

बिहार :: डीएम ने की आत्महत्या, मिले कई सुसाइड नोट 

डेस्क : बक्सर के जिलाधिकारी मुकेश पांडेय ने गुरुवार शाम को यूपी के गाजियाबाद में आत्महत्या कर ली। उनकी असमय मृत्यु की सूचना ने पूरे देश की नौकरशाही के साथ ही आम जनता को भी झकझोर कर रख दिया है। 2012 बैच के आईएएस मुकेश पांडेय का शव गाजियाबाद स्टेशन से एक किलोमीटर दूर कोटगांव के पास रेलवे ट्रैक पर कटा हुआ मिला। गाजियाबाद के एसएसपी एचएन सिंह ने शव मिलने की पुष्टि की है।

पांडेय ने आत्महत्या से पहले शाम 6 बजे घरवालों को वाट्सएप किया था कि वे दिल्ली की एक इमारत से छलांग लगा आत्महत्या करने जा रहे हैं। घरवालों ने तुरंत दिल्ली पुलिस को जानकारी दी। दिल्ली पुलिस जब तक कुछ कर पाती पांडेय गाजियाबाद चले गए और ट्रेन से कटकर जान दे दी। दिल्ली पुलिस के सूत्रों के अनुसार मुकेश पांडेय ने वाट्सएप के जरिये घर में यह संदेश भेजा था कि मैं अपनी जिंदगी से तंग आकर आत्महत्या करने जा रहा हूं। मेरा अच्छाई पर से विश्वास उठ गया है। संदेश में उन्होंने कहा था कि मैं दिल्ली के जनकपुरी स्थित डिस्ट्रिक्ट सेंट्रल मॉल की दसवीं मंजिल से छलांग लगाकर आत्महत्या करने जा रहा हूं। मेरा सुसाइड नोट दिल्ली के लीला पैलेस होटल के कमरा नंबर 742 में मेरे बैग में रखा हुआ है। मुझे माफ कर दें। मैं आप सबको बहुत प्यार करता हूं।

पुलिस को मुकेश पांडेय की लाश गाजियाबाद रेलवे स्टेशन से 200 मीटर आगे यार्ड में रेलवे ट्रैक पर मिली। उनकी जेब से पर्स और सुसाइड नोट बरामद हुआ। दिल्ली वेस्ट के डीसीपी विजय कुमार ने  बताया कि मुकेश पांडेय के साथियों का फोन शाम करीब साढ़े छह बजे आया। पुलिस तुरंत डिस्ट्रिक्ट सेंट्रल मॉल पहुंची लेकिन वहां ऐसी किसी तरह की घटना की जानकारी नहीं मिली। एक सीसीटीवी फुटेज देखने से पता चला कि मुकेश पांडेय शाम 5:55 बजे मॉल से बाहर जा रहे थे। अन्य सीसीटीवी फुटेज में मेट्रो स्टेशन की तरफ जाते दिखे। डीसीपी ने बताया कि हमने मेट्रो का भी सीसीटीवी फुटेज चेक किया लेकिन उसमें वे नहीं दिखे। रात करीब 9 बजे हमें जानकारी मिली कि मुकेश पांडेय का शव गाजियाबाद इलाके में मिला है।

बिहार के सारण के हैं मूल निवासी
मुकेश पाण्डेय मूल रूप से सारण जिले के दरियापुर से सांझा गांव के रहने वाले थे. हालांकि उनकी परवरिश गुवाहाटी में हुई थी. उनके पिता वहीं कार्यरत थे. मुकेश पाण्डेय ने 10वीं की परीक्षा गुवाहाटी के फैकल्टी हायर सेकेंडरी स्कूल से पास की थी. जबकि इण्टरमीडिएट की परीक्षा गुवाहाटी के ही मारिया पब्लिक स्कूल से पास की थी.बाद में उन्होंने गुवाहाटी के प्रतिष्ठित कॉटन कॉलेज में एडमिशन लिया. कॉटन कॉलेज से उन्होंने बीए आॅनर्स की पढ़ाई की, जहां इंग्लिश लिटरेचर उनका विषय था.

रच दिया था इतिहास
ग्रेजुएशन के बाद उन्होंने दिल्ली में सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी. पहले प्रयास में असफल होने के बाद दूसरे प्रयास में उन्होंने इतिहास रच दिया. उनकी ऑल ​इण्डिया रैंकिंग 14 थी. उस वक्त मुकेश पाण्डेय की सफलता पूरे देश में चर्चा का विषय बना था.

Check Also

दरभंगा कंकाली मंदिर के पुजारी की गोली मारकर हत्या, 3 अपराधियों की आक्रोशित लोगों ने की पिटाई एक की मौत 2 की हालत गंभीर एक भक्त भी गोली लगने से ज़ख्मी

राजू सिंह की रिपोर्ट दरभंगा : दुर्गापूजा के महानवमी की अहले सुबह दरभंगा में अपराधियों …