Breaking News

बिहार :: ‘केमिकल साईन्स-द्वितीय’ पुस्तक का हुआ विमोचन

 दरभंगा : ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. सुरेन्द्र कुमार सिंह ने कहा कि पुस्तक समेकित ज्ञान का भंडार है। यह किसी भी विधि का विकल्प नहीं हो सकता। उन्होंने शनिवार को केमिकल साईन्स-द्वितीय का विमोचन करते हुए उक्त बातें कहीं। उन्होंने कहा कि कोई भी पुस्तक अपनी पहचान गुण के आधार पर प्राप्त कर सकता है। जो पुस्तक छात्रों के लिए जितना लाभदायक होगा, वह उतना ही लोकप्रिय होगा । उन्होंने कहा कि जीवन के उदे्श्यों को पूर्ति में पुस्तक मार्गदर्शक का कार्य करता है। पुस्तक छात्रों को सहयोग करती है। शिक्षकों की कमी को भी कुछ हद तक दूर करती है। उन्होंने शिक्षकों का आह्वान किया कि वे छात्रोपयोगी पुस्तकों की रचना करें। डॉ. कलोवद्व झा, डॉ. अशोक कुमार झा, डॉ. विनय कुमार झा द्वारा लिखित पुस्तक का विमोचन करते हुए कुलसचिव डॉ. मुस्तफा कमाल अंसारी ने कहा कि छात्रों को हर हमेशा मूल पुस्तक का अध्ययन करना चाहिए। विषय की जानकारी देने में पुस्तक हर हमेशा उपयोगी होता है। समारोह को संबोधित करते हुए विज्ञान संकायाध्यक्ष डॉ. उपेन्द्र कुमार ने कहा कि पुस्तक की रचना शैक्षणिक दिशा में उत्कृष्ट कदम है। यह छात्रों के लिए लाभदायक होता है। इस अवसर पर लोक सूचना पदाधिकारी प्रो. एन.के.अग्रवाल ने कहा कि विश्वविद्यालय शैक्षणिक विकास के लिए हर हमेशा प्रयासरत है। उसी दिशा में यह कारगर कदम है। समारोह में चन्द्रधारी मिथिला विज्ञान महाविद्यालय के प्रधानाचार्य डॉ. अरविंद कुमार झा, प्रो. रतन कुमार चौधरी, डॉ. श्रीनारायण झा, डॉ. अजय मिश्रा, डॉ. योगेन्द्र झा, डॉ. संजय चौधरी आदि उपस्थित थे।

Check Also

योगीता फाउंडेशन :: मन, वचन व कर्म में समानता रखने वाले गांधी व शास्त्री ने आत्मनिर्भर समाज का देखा था सपना- मनोज शर्मा

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट दरभंगा : राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का जीवन दर्शन एवं …

Leave a Reply

Your email address will not be published.