हिमाचल पुलिस की गुंडागर्दी।

3

मनाली (ब्यूरो): आज जहाँ लोग गर्मी की छुट्टियां काटने हिमाचल जाते है, अपनी फैमली और दोस्तों के साथ ताकी गर्मी से थोड़ी निजात मिल सके। आज कल हिमाचल में हर स्टेट से लोग आते है और हिमाचल की गवर्नमेंट 90% कमाई टूरिस्ट से होती है क्योंकि हिमाचल एक पर्यटक स्थल बन चूका है। जबकि सब को पता है की हिमाचल की लोकल वासी भी अपनी रोजी रोटी पर्यटको से ही कमाते है और अपना घर चलते है। पर आज एक सवाल खड़ा हो गया, जब मनाली में घूमने के लिए कुछ पत्रकारो के साथ मनाली के ट्रैफिक पुलिस ए. एस.आई. हरी सिंह और हेड कांस्टेबल किशन चाँद ने बतमीजी से बात की और जब पत्रकार ने कहा की वह पत्रकार है तो ए. एस.आई. हरी सिंह ने कहा की हमारी हिमाचल पुलिस प्रेस को नहीं जानती और उनका 100 रु का चालान भी काट दिया गया। इस सम्बन्ध में कुल्लू के एस.पी श्री पदम् चाँद जी से फ़ोन पर बात करने की कोशिश की गई तो उन्होंने दो तीन बार फ़ोन करने पर भी फ़ोन नहीं उठाया। अब सवाल ये उठता है की हिमाचल से बहार से आये हुए पर्यटको का ही चालान क्यों कटा जाता है? हम हिमाचल के सी.एम् से सवाल पूछते है की वो हिमाचल टूरिज़म की टीवी पर ऐड देना बंद कर दे , क्योंकि अगर ऐसे ही पर्यटको के साथ लोकल पुलिस बतमीजी करेगी तो वो दिन दूर नहीं जब हिमाचल में कोई भी घूमने नहीं जायेगा और आज कुल्लू के एस.पी श्री पदम् चाँद जी ने बहार से आये हुए पत्रकारो का फ़ोन नहीं उठाया, तो ये कुल्लू वासियो की समस्याओं को क्या सुनते होंगे?