Breaking News

बिहार :: शंकर मंडल के जान की कीमत महज 2 लाख रूपये

picsart_09-09-10-49-38दरभंगा : बहादुरपुर के छोटकी एकमी में मंगलवार की सुबह सरेआम हुई प्रोपर्टी डीलर कृष्ण कुमार मंडल के पुत्र शंकर कुमार मंडल की हत्या मामले में उसकी पत्नी इंदु देवी उर्फ मनीषा के बयान पर चार लोगों को नामजद करते हुए धारा 302,120-बी, 34 भादवि ,27 आर्म्स एक्ट के तहत मामला (352/16) दर्ज किया गया है.

इस घटना के बाद पुलिस के हत्थे चढ़ा समस्तीपुर जिला के जीतवारपुर थाना क्षेत्र के हकीमाबाद गांव निवासी राम नारायण रॉय के पुत्र सुनील कुमार राय उर्फ बतहा उर्फ अख्सा को पुलिस ने पूछताछ के बाद न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. वहीं एक अन्य से पूछताछ जारी है. अन्य शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी को लेकर छापेमारी की जा रही है. जिन चार लोंगो के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गयी है, उसमें किशोरी मंडल के अलावा सुनील, पप्पू एवं रोशन का नाम भी शामिल है.
पूछताछ के दौरान सुनील ने इस हत्या कांड का खुलासा करते हुये पुलिस को बताया कि इस हत्या की सुपारी बरहेत्ता निवासी लुटकुन मंडल के पुत्र किशोरी मंडल ने दिया था. उसने पुलिस को कहा कि शंकर की हत्या के लिये तीन दिन उसका रेकी भी किया गया था.

उसने बताया कि पप्पू महतो को मेरे पास भेजा गया था. कहा गया कि किशोरी ने भेजा है. दो लाख रुपया मिलेगा. उसने बताया की पांच सितम्बर को रेकी के दौरान शास्त्रीनगर में संजय चौधरी के यहां रुका था. वहीं चमन नामक एक लड़का मिला था, जो किशोरी के साथ हमेशा रहता है. उसी दिन शंकर की हत्या हो जाती, लेकिन शंकर नहीं आया था.
रोशन व पप्पू ने मारी गोली
सुनील का कहना है कि वह मोटर साइकिल चला रहा था, उसने गोली नहीं मारी. उसने कहा कि तीन हथियार पप्पू लाया था. रोशन और पप्पू ने गोली मारी. सुनील ने कहा कि वह हाल में ही छूटकर जेल से आया है.
कई मामलों में सुनील की पुलिस को थी तलाश
पुलिस के हत्थे चढ़ा सुनील के विरुद्ध समस्तीपुर जिला के कई थानों में लूट हत्या सहित कई आरोप में विभिन्न थानों में करीब एक दर्जन मामले दर्ज है. दो वर्ष पूर्व 14 लाख एवं एक लाख 30 हजार रुपये लूटने में रोसरा थाना में 279/14, समस्तीपुर के मुफ्फसिल थाना में बाइक लूटने के मामले में 414/13, दलसिंहसराय थाना में डकैती मामले में 341/13, मुसरीघरारी में 77/13 समेत कई थानों में मामला दर्ज है.
अंगारघाट में दी जानी थी सुपारी की शेष राशि
उन्होंने यह भी कहा कि शंकर की हत्या की सुपारी दो लाख में तय हुयी थी, जिसमें पांच हजार रुपया दे दिया गया था. बांकि रुपया समस्तीपुर और रोसरा के बीच अंगारघाट में देने की बात तय थी. उन्होंने कहा कि वरीय पुलिस अधीक्षक के निर्देशानुसार बहादुरपुर, विशनपुर और रोसरा थाना की पुलिस एक साथ कई जगहों पर छापेमारी की, लेकिन सब फरार हो गये. एसडीपीओ दिलनवाज अहमद ने कहा कि वरीय पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर पुलिस काम कर रही है. जल्द ही मामले का खुलासा किया जायेगा. एसएसपी सत्यवीर सिंह ने कहा कि उनकी पैनी नजर घटनाक्रम एवं अपराधियों पर है.
सुनील ने बताया कि वह समस्तीपुर काॅलेज समस्तीपुर में इंटर का छात्र है. थानाध्यक्ष देवानन्द रावत ने सभी बातों पर मुहर लगाते हुए कहा कि सुनील की वास्तविक उम्र करीब 22 वर्ष है., लेकिन सर्टिफिकेट में कम उम्र होने की वजह से अब तक पुलिस रिमांड होम में रहता आया है, लेकिन सर्टिफिकेट में उम्र पूरा हो जाने के कारण जेल भेजा जा रहा है.

Check Also

डॉ मशकूर उस्मानी ने निभाया वादा, अंजली बिटिया की पढ़ाई शुरू जाने लगी कांवेंट स्कूल

डेस्क : बीते माह जाले के ब्राह्मण टोली में रहने वाली चंचल झा नाम की …