Breaking News

बिना हेलमेट 20 लाख चालान, फिर भी नहीं सुधरे

2019 में 19 लाख 94 हजार 897 लोग पकड़े गए- बिना हेलमेट 6020 लोगों की मौतें हुई- 3583 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी

राज प्रताप सिंह, लखनऊ ब्यूरो। लखनऊ समेत प्रदेश भर में बिना हेलमेट बाइक चलाने वाले सुधर नहीं रहे है। यही वजह है कि बीते एक साल में 20 लाख बाइक सवारों का चालान हुआ। फिर भी नहीं सुधरे। यह नजारा गुरुवार को हिन्दुस्तान टीम की पड़ताल में सामने आया। जहां दो पहिया वाहन चालक खुद की सुरक्षा से खिलवाड़ करते हुए सर पर बिना हेलमेट बाइक चलाते मिले। ऐसे बाइक सवारों का सफर खुद और दूसरों के लिए मौत की वजह बन रहे है। ऐसे बाइक सवारों के खिलाफ एक बार फिर विशेष चेकिंग अभियान चलाकर धरपकड़ करने की तैयारी है।


सड़क हादसे की रिपोर्ट में 70 फीसदी मौत बिना हेलमेट लगाए लोगों की हुई। ट्रामा सर्जरी विभागाध्यक्ष संदीप तिवारी सड़क सुरक्षा के हर जागरूकता कार्यक्रम में लोगों से अपील करते है कि शरीर का महत्वपूर्ण अंग सर है। जिसकी सुरक्षा खुद के हाथों में है। बावजूद दो पहिया बाइक सवार बिना हेलमेट तेज रफ्तार वाहन चला रहे है।
एआरटीओ प्रवर्तन संजीव गुप्ता बतातें है कि जारूकता कार्यक्रम का परिणाम है कि राजधानी में दस बाइक सवार में आठ लोग हेलमेट का प्रयोग कर रहे है। इससे बिना हेलमेट सड़क हादसों में कमी आई है। अब शतप्रतिशत हेलमेट का प्रयोग करने के लिए बाइक सवारों को जागरूक किया जाएगा।


दो पहिया बाइक सवार को हेलमेट पहनना क्यों जरूरी है? सड़क दुघटना के दौरान सर में चोट लगने पर याददाश्त, पागलपन ही नहीं आंखों की रोशनी भी जा सकती है। चोट गहरा होने पर मौत भी सकती है। हेलमेट आपके सर को दुर्घटना के वक्त बचाता हैं। इसलिए अपने सर की सुरक्षा के लिए हेलमेट जरूर पहने।

Check Also

प्राकृतिक छटा पर जेसीबी मशीन का कहर

चकरनगर/इटावा। ऊंचे टीले और कंटीली झाड़ियों को संजोए रखने वाला चकरनगर बीहड़ क्षेत्र धीरे-धीरे प्राकृतिक …