Breaking News

बिहार :: लंबे अरसे बाद अनुश्रवण समिति की हुई बैठक, कालाबाजारी समेत उठे कई मुद्दे

दरभंगा : खाद्य एवं आपूर्ति विभाग सह निगरानी समिति सदर अनुमंडल की बैठक अध्यक्ष अनुमंडल पदाधिकारी सदर की अध्यक्षता में विकास भवन में सम्पन्न हुई।

जनवितरण प्रणाली के अन्तर्गत संचालित सभी योजनाओं के खाद्यान्न एवं किरासन तेल आपूर्ति सुनिश्चित करने एवं गैस वितरण में पारदर्शिता बनाये रखने हेतु निगरानी समिति का गठन है।निगरानी समिति का मूल दायित्व जनवितरण प्रणाली के माध्यम से ए पी एल,बी पी एल,अंत्योदय अन्न योजना एवं अन्नपूर्णा योजना के तहत वितरित होने वाले खाद्यान्न ,किरासन तेल एवं गैस सभी उपभोक्ताओं को ससमय निर्धारित मात्र एवं दर पर उपलब्ध करना। सरकार के निर्देशानुसार समिति की बैठक प्रतिमाह आयोजित होनी हैं।क्योंकि इस योजना से गरीब गुरबा जुड़ा हुआ हैं।।मगर जनवितरण विक्रेता और प्रशासन के षडयंत्र के तहत चार -पांच माह पर बैठक आयोजित की जाती हैं। प्रतिमाह बैठक नहीं होने से गरीब गुरबा को सस्ती दर पर मिलने बाली अनाज खुले बाजारों में कालाबाजारी में बिक जाती हैं।जब पीड़ित उपभोक्ता लिखित शिकायत करते हैं तो आवेदन रद्दी टोकरी में फेंक दी जाती है।

सदस्य अशोक नायक ने प्रश्न उठाया कि बैठक से मिडिया को वंचित क्यों किया गया है। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत कितनी गैस कनेक्शन दिया गया हैं,कितनी बाँकी हैं,पूर्ण सूची उपलब्ध कराई जाय। हायाघाट के एम.ओ की कार्यप्रणाली की जाँच हो उनके विरुद्ध कई लिखित शिकायत अनुमंडल पदाधिकारी को उपभोक्ताओं ने दिया हैं की बिचौलिये के साथ राशन की कालाबाजारी की जा रही है। क्या जनवितरण विक्रेता के बितरण पंजी पर फर्जी अंगूठा एवं हस्ताक्षर होता हैं? एम ओ हायाघाट से लिखित जवाब मांगी जाय।
लोजपा अध्यक्ष गगन झा ने कहा की समिति की बैठक प्रत्येक माह क्यों आयोजित नहीं होती है। जनवितरण के डिलर उपभोक्ता से राशन की राशि अधिक लेती है और वजन कम देती है।उनलोगो की जाँच कर लाइसेंस रद्द किया जाय।
पूर्व जिला परिषद अध्यक्ष भोला सहनी ने कहा की जनवितरण दुकानों की जाँच के लिए विशेष अभियान चलाई जाय।राशन एवं तेल उठाव व वितरण की पूर्ण सूची प्रतिमाह उपलब्ध क्यों नहीं ? पूर्व बैठक की कार्यवाही एवं की कई करवाई की जानकारी क्यों नहीं उपलब्ध कराई जाती हैं।
भाकपा के नारायण झा ने कहा की प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना में छूटे लोगो का नाम जोड़ा जाय और गैस एजेंसी द्वारा अनियमितता की जाँच हो।
जिला परिषद अध्यक्षा ने कही की जनवितरण की डीलर कैशमेमो क्यों नहीं देता हैं। साधना भारती,माधव झा,शैलेन्द्र मोहन झा भी प्रश्न रखे। अनुमंडल पदाधिकारी ने बताये की पी एच एच राशन कार्ड बालो को प्रपत्र भरकर देना है जिसमें आधार नम्बर,बैंक खता नम्बर और मोबाईल नम्बर भरना हैं जो 30 मार्च तक आखिरी तिथि है जो नही भरेंगे उनका कार्ड कैंसिल हो जायेगा।

Check Also

हड़कंप :: एक SDO,2 एसपी, 4 डीएसपी, तीन CO समेत 18 अधिकारी निलंबित, अवैध बालू खनन मामले में बिहार सरकार की सबसे बड़ी कार्रवाई

डेस्क : अवैध बालू खनन को लेकर सख्ती दिखा रही सरकार के हाथ अपने कई …