बिहार :: भीषण जाम से परेशान हैं आम जन।

9

लखीसराय-(रजनिश कुमार)- बदलते परिवेश में जहाँ बाँकी राज्यों की तरह बिहार भी प्रगति कर रहा है, वहीं जनसंख्या में भी वृद्धि हुई है। बीते वक़्त में बिहार पलायन में बहुत आगे था, मगर आज बिहारिओं को अपने राज्य में भी रोजगार के अवसर दिख रहें है। प्रगति के राह पर चलते बिहार ने एकमुखी प्रगति की है, पलायन रुका, जनसंख्या में बृद्धि हुई तो सड़कों पर नई नई गाड़ियां भी दौड़ने लगीं। मगर बिहार के पास एक बड़ी समस्या ने भी जन्म लिया जो है जाम की समस्या और बिहार सरकार के पास इसके लिए न तो कोई विकल्प है न हीं कोई समाधान। वोट बैंक के मुद्दों के बीच अक्शर ऐसे छोटे छोटे बुनियादी मुद्दे छूट हीं जाते हैं। बिहार सरकार इन मुद्दों पर पूर्णतः उदासीन हैं। लखीसराय जिला जाम के लिए तो प्रसिद्ध है ही लेकिन आज बाजार में भीषण जाम देखने को मिला। स्टेशन से लेकर हाजी मार्केट तक पैदल जाना तक मुश्किल था। स्टेशन से लेकर पचना रोड हाजी मार्केट बड़ी दुर्गा स्थान तक ऐसे ही रोड में गाड़ियां रुकी रही जिसे कारण आम लोगों को तो परेशानियां हुई लेकिन गाड़ी जो जाम में फंसे थे उन लोगों को भी परेशानियां हो रही थी किसी को ट्रेन पकड़ने के लिए स्टेशन जाना था तो किसी को बाजार जाना था तो किसी को हॉस्पिटल तो किसी को कोर्ट कचहरी ब्लॉक तो किसी को किऊल जाना था तो कोई अपने घर की ओर जाने के लिए रोड में ही जाम में फंसे थे लखीसराय मे जाम मुख्य कारण अवैघ पार्किंग सड़कों पर जगह जगह पर बाइक खड़ा करना सड़कों के किनारे अतिक्रमण कर बाजार लगाना सबसे बड़ी समस्या है लखीसराय का ड्रीम प्रोजेक्ट बाईपास बनने में काफी देरी है। तब तक लखीसराय मे भीषण जाम लगते रहेंगे।