Breaking News

बिहार :: डीजल अनुदान राशि के लिये किसान हताश निराश, दो वर्षो से 4000 किसानों का भुगतान है लंबित

अंधराठाढी : डीजल अनुदान योजना के राशि लेना यहॉ के किसानो के परेशानी का शवव बन गया है। दो वर्षो से प्रखंड कृषि पदाधिकारी कार्यालय ,प्रखंड नजारत फिर बैंक के चक्कर लगाते लगाते किसान परेशान हो रहे है। सूत्रो के मुताविक तकरीबन 4000 किसानों को डीजल अनुदान राशि मिलना है। सरकार तकरीबन 52 लाख रूपये इस मद में भुगतान के लिये मुहैया कर चुकी है। कृषि कार्यालय के सूत्रों के मुताबिक किसानों की सूची तैयार कर प्रखंड कार्यालय को उपलब्ध करा दिया है। प्रखंड कार्यालय भी अपना पल्ला झाड़ते हुये बताया कि भुगतान हेतु उत्तर बिहार ग्रामीण बैंक शाखा रूद्रपुर को एकाउण्ट के माध्यम से भुगतान हेतु किसानों के बैंक एकाउण्ट समेत सूचि उपलब्ध करा दी है। बैंक को आरटीजीएस के माध्यम से लाभुकों के खाता में पैसा भेजना है। दो साल के बकाया भुगतान लंबित होने के कारण किसान हताश और निराश हो चुके हैं।

किस स्तर पर भुगतान रूका हुआ हैं वह विभाग और बैंक हीं जानें ? इसी तरह ओलावृष्टि मद की अनुदान राशि से वंचित दो सौ से अधिक किसान हतोत्साहित​ हैं। पांच हजार से अधिक किसानों के लिए तकरीबन डेंढ करोड़ रूपये इस प्रखंड को आवंटित हुआ था। शेष किसानों को खाता पर अनुदान राशि पहुंची तकरीबन दो सौ किसानों के नाम या खाता संख्या आदि लिपिकीय भूल के कारण भुगतान से अबतक वंचित है। इसे सुधार करना प्रखंड कार्यालय की जिम्मेवारी बनती है।
रबी फसल के अनुदान राशि गेहूं की कटाई के बावजूद भी भुगतान लंबित है। इसमें जीरो टीलेज के 310 किसान को 1980 रू मुख्यमंत्री गेहूं बीज योजना के 96 किसान एवं मूंग दाल अनुदान के 96 किसानों को 324 रू स्वी विधि के तहत 37 किसानों के 1560 के दर से अनुदान मिलना है। यह राशि प्रखंड कृषि पदाधिकारी के द्वारा भुगतान होना है।

कहते हैं कृषि पदाधिकारी
कृषि पदाधिकारी रामपुकार पासवान के अनुसार रबी फसल का अनुदान राशि एक सप्ताह के भीतर किसानों के खाते में पहुंच जायेगी । आरटीजीएस के लिए सूची बैंक को भेज दी गयी है।

कहते है प्रखंड विकास पदाधिकारी
बीडीओ आलोक कुमार शर्मा कहते हैं कि डीजल अनुदान राशि भुगतान हेतु बार बार शाखा प्रबंधक को लिखा गया है । बैंकर्स मीटिंग में भी शाखा प्रबंधक ग्रामीण बैंक रूद्रपुर को कहा गया है। इस सप्ताह में भुगतान नहीं करने पर उच्चाधिकारियों को लिखा जायेगा । ओलावृष्टि मद की अनुदान राशि स्टेट बैंक झंझारपुर से आरटीजीएस होता है। समस्या सुधार कर कई बार सूचीवार भी भेजा गया हैं अब कम हीं किसान इस लाभ से वंचित हैं।

Check Also

खुशखबरी :: 8300 पीटी शिक्षकों की शीघ्र होगी भर्ती, बिहार के शिक्षा मंत्री ने किया ऐलान

डेस्क : बिहार में शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने विधानसभा में कहा कि 8300 …