Bihar :: भागलपुर विश्वविद्यालय के कुलपति नलिनी कांत झा एवं परीक्षा नियंत्रक डॉक्टर अरुण कुमार सिंह को अविलंब बर्खास्तगी की मांग को लेकर छात्रों द्वारा जमकर प्रदर्शन किया गया

2

Report_ Ajit Kumar, Bhagalpur

भागलपुर के कुलपति नलिनी कांत झा एवं परीक्षा नियंत्रक डॉक्टर अरुण कुमार सिंह को अविलंब बर्खास्तगी की मांग को लेकर छात्रों द्वारा जमकर प्रदर्शन किया गया. विश्वविद्यालय प्रशासन ने 6 तारीख तक का समय लिया है .लेकिन सभी छात्रों ने 10 तारीख तक का समय दिया है . साथ ही चेतावनी दी है कि अगर 10 तारीख तक छात्रों के सभी मांगों को पूरा नहीं किया गया तो छात्र संगठन उग्र प्रदर्शन करेगी जिसका जिम्मेवार सिर्फ विश्वविद्यालय प्रशासन की होगी.

दिनांक- 2.5.2017 समय 11:00 बजे विश्वविद्यालय बचाओ मोर्चा द्वारा विश्वविद्यालय में प्रदर्शन किया गया. क्योंकि पूर्व में जो मांग किया गया था , वह मांग एक भी विश्वविद्यालय की तरफ से पूरा नहीं किया गया है, और छात्रों का आत्मदाह को मजबूर करने वाले पदाधिकारी पर कार्यवाही क्यों नहीं किया गया .ABVP (अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद) के अध्यक्ष एवं छात्र नेता अजीत कुमार सोनू ने कहा कि यह जवाब विश्वविद्यालय को देना होगा. सभी छात्र दिन के 11:00 बजे विश्वविद्यालय प्रशासनिक भवन पहुंचे अपनी सहभागिता के लिए और अपने विद्यालय को बचाने हेतु सभी ने आंनदोलन में बढ़ चढ़कर हिस्सा भी लिया .

छात्रों ने कहा की परीक्षा विभाग में आए दिन छात्रों पर हो रहे विभिन्न अपराधों ,आत्मदाह पर रोक लगाई जाए एवं  दोषी पर कारवाई की जाए .सत 2014 – 16 में छात्रों द्वारा नामांकन शुल्क में विभिन्न विषयों में अलग-अलग तकरीबन ₹2000 के आसपास अधिक राशि ली गई थी, जिसे वापस करने का वादा भी विश्वविद्यालय प्रशासन ने किया था, किंतु अभी तक वापस नहीं हो पाया है . तमाम छात्रावासों में मूलभूत सुविधा मुहैया कराई जाए .

विश्वविद्यालय बचाओ मोर्चा के बैनर तले अपनी मूलभूत मांगों के लिए कुलपति वापस जाओ ,तानाशाही कुलपति मुर्दाबाद नारे के साथ विरोध जताया गया. आंदोलन का नेतृत्व संयोजक अजीत कुमार सोनू के तहत किया गया. विश्वविद्यालय प्रशासनिक भवन के अंदर जमकर प्रदर्शन भी किया गया. प्रदर्शन के दौरान कुलानुशासक डॉक्टर योगेंद्र जी अपने कार्यालय में बैठककर सभी छात्रों से वार्तालापकर ठोस आश्वासन दिया कि 6 तारीख तक सभी मांगों को पूरा कर दिया जाएगा. अजीत सोनू का कहना था कि छात्र कुमार निराला को आत्मदाह के प्रेरित करने वाले परीक्षा नियंत्रक डॉक्टर अरुण कुमार सिंह को अविलंब बर्खास्त किया जाए,  फर्जी अंकपत्र मामले में जांच रिपोर्ट राजभवन अविलंब भेजा जाए एवं छात्र संघ चुनाव की तिथि प्रकाशित की जाएं . इन सभी मांगों को लेकर जाप के विश्वविद्यालय अध्यक्ष सौरव राणा ने कहा कि परीक्षा विभाग की विजिलेंस से जांच कराई जाएगी तो विश्वविद्यालय के कई अधिकारी भी जेल जा सकते हैं . राजेश कुमार यादव ,रितेश कुमार चंदन ,सौरभ राणा, अमर चौधरी, आदर्श कुमार ,हनी सिंह ,सुनील, शिवम, आशीष, कुंदन कुमार मंडल और अजीत कुमार सोनू आदि आंदोलन में उपस्थित थें . विश्वविद्यालय बचाव के संयोजक डॉक्टर अजीत कुमार सोनू ने कहा की परीक्षा विभाग छात्रों का शोषण भी करता है.