सभी प्रत्याशी को देना होगा सोशल मीडिया एकाउंट नं., 772 बूथ पर महिला मतदान कर्मी संभावित

27

दरभंगा : समाहरणालय अवस्थित अम्बेदकर सभागार में जिला पदाधिकारी डॉ. त्यागराजन एस.एम. की अध्यक्षता में बाढ़ प्रभावित परिवारों के खाते में जी0आर0 की राशि भेजे जाने एवं बिहार विधान सभा आम निर्वाचन, 2020 की तैयारी को लेकर बैठक की गई।
बैठक में जिलाधिकारी ने बताया कि 05 लाख 56 हजार 355 बाढ़ प्रभावित परिवारों को जी0आर0 की राशि पी.एफ.एम.एस. के माध्यम से भेजी गई हैं। 05 लाख 02 हजार लोगों के खाते में राशि जा चुकी हैं, शेष 56 हजार 155 लोगों के खाते में भी 01 से 02 दिनों में राशि चली जाएगी। उन्होंने कहा कि इसे ऑनलाईन अंचलवार देखा जा सकता हैं। उन्होंने संबंधित अंचल अधिकारियों से कहा कि प्रखण्ड स्तर पर यदि किसी लाभुक के छूटने का आवेदन दिया गया हैं तो उसकी जाँच कर निष्पादन कर लिया जाए तथा एक भी आवेदन छूटने न पाए।

उन्होंने कहा कि जिला स्तर से भी 130 आवेदन संबंधित अंचलों को भेजी गई हैं। कुछ आवेदन स्थानीय जनप्रतिनिधियों द्वारा भी दिए गए हैं। उन्होंने सभी संबंधित प्रखण्ड के संबंधित वरीय प्रभारी पदाधिकारियों को 16 सितम्बर को अपने-अपने प्रखण्ड में जाकर प्राप्त आवेदनों का निष्पादन कराने, किसी एक प्रभावित पंचायत का भ्रमण करने एवं स्थानीय लोगों से इस संबंध में फीडबैंक लेने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि केवटी, सिंहवाड़ा, बहादुरपुर, बहेड़ी, जाले एवं बिरौल के लिए लाभुकों के छूटने के आवेदन प्राप्त हुए हैं। खासकर अपर समाहर्त्ता को बहेड़ी अंचल, उप विकास आयुक्त को बहादुरपुर अंचल एवं सहायक समाहर्त्ता को जाले अंचल का भ्रमण करने का निर्देश दिया गया। आगामी बिहार विधान सभा आम निर्वाचन, 2020 की तैयारी के संबंध में सभी कोषांग के संबंधित नोडल पदाधिकारियों से एक-एक कर उनके कोषांग के लिए बनायी गई कार्य-योजना एवं किये जा रहे कार्य की जानकारी ली गई।

जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि इस बार दरभंगा में 4016 मतदान केन्द्रों के लिए 21 हजार मतदान कर्मियों की आवश्यकता होगी। जिले में 7,187 महिला कर्मियों को जोड़कर कुल 23 हजार 544 कर्मी उपलब्ध हैं। निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार प्रत्येक विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र में 02-02 मतदान केन्द्रों पर केवल महिला मतदान कर्मियों को नियुक्त करना है। जिले में उपलब्ध महिला कर्मियों के अनुसार 752 मतदान केन्द्रों पर महिला कर्मियों को लगाया जा सकता हैं। उन्हें उनके विद्यालय के मतदान केन्द्र पर भी लगाया जा सकता हैं। जिन मतदान केन्द्रों पर महिला कर्मियों की नियुक्ति की जाएगी, वहाँ उनके लिए सुरक्षा एवं मूलभूत सुविधा की उपलब्धता का आकलन कर लेना होगा। उन्होंने सभी निर्वाची पदाधिकारी को इसके लिए कार्य-योजना बना लेने के लिए निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि 02 महिला मतदान कर्मियों को 02 पुरूष मतदान कर्मियों के साथ एक मतदान केंद्र पर नियुक्त किया जा सकता हैं। इसके लिए महिला मतदान कर्मियों को ई0भी0एम0 एवं वी0वी0पैट का भी बेहतर प्रशिक्षण देना होगा। इसके लिए प्रशिक्षण कोषांग को कार्य-योजना बनानी होगी और 01 फेज में केवल महिला कर्मियों को ही प्रशिक्षण दिया जाए।
ई0भी0एम0 कोषांग के नोडल पदाधिकारी ने बताया कि वर्त्तमान में जिले में 5012 सी0यू0, 6258 बी0यू0 एवं 3534 वी0वी0 पैट उपलब्ध हैं। जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने ई0वी0एम0 कोषांग को ई0भी0एम0 वितरण के लिए विस्तृत कार्य-योजना बना लेने को निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि कोविड-19 के गाईड लाइन के अनुसार ईवीएम वितरण की व्यवस्था बड़े क्षेत्र में करनी होगी, इसके लिए टेंट की संख्या भी बढ़ानी होगी।
सामग्री कोषांग के नोडल पदाधिकारी ने बताया कि दरभंगा क्लब, लहेरियासराय में सामग्री वितरण के लिए स्थान चिन्ह्ति किये गए हैं। आवश्यक सामग्री की तैयारी की जा रही है।
जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने स्वीप कोषांग को वैसे क्षेत्र, जहाँ के कम लोगों ने मतदान किया है, उन क्षेत्रों का सर्वे कराकर मतदाता जागरूकता कार्यक्रम चलाने के निर्देश दिए।
सभी निर्वाची पदाधिकारी को कोविड-19 के गाईड लाइन के अनुसार अपेक्षित वाहनों का आकलन करते हुए वाहन कोषांग को वाहन की माँग कर लेने का निर्देश दिया गया।
प्रशिक्षण कोषांग के नोडल पदाधिकारी भूमि सुधार उप समाहर्त्ता सदर ने बताया कि मास्टर प्रशिक्षकों को प्रशिक्षण दिया गया है। प्रशिक्षण का कार्यक्रम बनाया जा चुका है। एम0एल0 एकेडमी में प्रतिदिन 500 पी0-01 एवं पी0ओ0 को तथा बी0के0डी0 जिला स्कूल में प्रतिदिन 500 पी0-2 एवं पी0-3 को प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके उपरांत डीजिटल फोटोग्राफर, वीडियोग्राफर, नोमिनेशन सेल, पी0सी0सी0पी0 एवं पुलिस पदाधिकारियों को प्रशिक्षण के साथ राजनैतिक दलों के लिए भी प्रशिक्षण कार्यक्रम बनाया गया है।
जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने कहा कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में पी0सी0सी0पी0 के लिए आवागमन हेतु वोट की व्यवस्था भी करनी होगी। बिरौल एवं कुशेश्वरस्थान के लिए इन स्थलों का आकलन कर लेना होगा।

मीडिया सेल के नोडल पदाधिकारी ने बताया कि नाम निर्देशन के दौरान फॉर्म – 26 में सभी उम्मीदवारों से उनके सोशल मीडिया एकाउंट के संबंध में जानकारी लेनी है। साथ ही अधिसूचना तिथि के उपरांत बिना प्रमाणीकरण के कोई भी विज्ञापन प्रसारित नहीं की जाएगी। राष्ट्रीय, राज्य स्तरीय एवं पंजीकृत दलों के विज्ञापन राज्य स्तरीय एम.सी.एम.सी. द्वारा तथा स्वतंत्र अभ्यर्थियों के इलेक्ट्रॉनिक विज्ञापन का प्रमाणीकरण जिला स्तरीय एम.सी.एम.सी. द्वारा किया जाएगा। कार्मिक कल्याण कोषांग के नोडल पदाधिकारी को सभी कार्यक्रमों के लिए पेयजल, प्रकाश इत्यादि की व्यवस्था देख लेने के निर्देश दिए गए। व्यय लेखा कोषांग एवं मतपत्र कोषांग को अपनी तैयारी कर लेने के निर्देश दिए गए।

बैठक में उप विकास आयुक्त श्री तनिया सुल्तानिया, नगर आयुक्त श्री मनेश कुमार मीणा, सहायक समाहर्त्ता सुश्री प्रियंका रानी, अपर समाहर्त्ता श्री विभूति रंजन चौधरी, अपर समाहर्त्ता विभागीय जाँच श्री अखिलेश सिंह, जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी श्री राजीव रंजन प्रभाकर सहित तमाम संबंधित पदाधिकारी उपस्थित थे।