दरभंगा : मदरसा हामिदिया से जुलूस-ए-मोहम्मदी निकाला गया।

20

hajarat-janm-divasदरभंगा : ईद मिलादुन नबी के मौके पर शहर के किलाघाट स्थित मदरसा हामिदिया से जुलूस-ए-मोहम्मदी निकाला गया। जिसमें लाखों की संख्या में मुस्लमान शामिल हुए। इस्लाम धर्म के लोगों ने पूरे इस्लामिक लिवास में हाथों में झंडा लेकर हजरत मुहम्मद सल्लललाहो अलैहै वसल्लम जन्म दिन पर खुशियां मना रहे थे। जुलूस किलाघाट से होते हुए उर्दू बाजार, करमगंज, दुमदुमा, दारूभट्टी चौक, नाका नं.-6 होते हुए खान चौक पर पहुंचकर बेंता, शाहगंज, रहमगंज, फैजुल्ला खान, बाउली, बेला, कटहलबाड़ी, कादिराबाद, असगांव, बहादुरपुर से आए जुलूसों के साथ मिलकर रियाज खान की अगवाई में मौलागंज ,खान चौक मिर्जापुर ,दरभंगा टावर होते हुए जुलूस वापस किलाघाट पहुंचा। जहां हजरत मौलाना मुफती अब्दुल वाजिद काजी ने जुलूस में शामिल लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि आज के ही दिन पैगम्बर हजरत मुहम्मद सल्लललाहो अलैह वसल्लम इस दुनिया में तशरीफ लाए थें।

उन्हीं के आगमन पर पूरी दुनिया के मुसलमान खुशियां मनाते हैं। रियाज खान कादरी ने सलाम पढ़ाया फिर सबने मिलकर दुआ मांगी उसके बाद जुलूस का समापन हुआ। काफी संख्या में लोग मोटरसाईकिल से जुलूस में आये गाड़ियों पर लोग नात-ए-पाक पढ़ते हुए चल रहे थे, जगह-जगह पर लोग जुलूस के लिए पानी, चाय, शर्बत का इंतजाम रखा था, अन्जुमन करवाने मिल्लत की जानिब से पुरे शहर में झंडे, पोस्टर, बैनर, गेट लगाये गये थे।