चकरनगर में भारी बारिश का कहर कई घर धराशाही हो परिजनों ने लिया बरसाती का सहारा

15
(डॉ0एस.बी.एस. चौहान)

चकरनगर (इटावा), चकरनगर विकासखंड के अंतर्गत हुई मौसमी बरसात से चारों तरफ तबाही का मंजर दिखाई दे रहा है,यदि नदियों का सहारा ना हो तो भरा हुआ पानी चारों तरफ मौसमी झीलों जैसा आभास कराने लगें, लेकिन नदियों के चलते पानी जल्दी से उतर जाता है, पर तमाम लोग आशियाना गिर जाने से तबाही की कगार पर हैं। वह लोग जो घर से बेघरवार हो गए हैं अब शासन और प्रशासन की तरफ राहत के नाम की बाट जोहते देखे जा सकते हैं। कुछ लोग संबंधित नवनिर्वाचित ग्राम प्रधानों के पास तो, कोई संबंधित चलते-फिरते लोगों के पास और कोई मीडिया कर्मियों से भी संपर्क स्थापित करने में लगे हुए हैं। बस आशा सिर्फ यही कि सरकार के द्वारा कुछ राहत मिल जाए बेघर वालों को बसाने के लिए कॉलोनी/ आवास मिल जाए।

खाद्यान्न का भी कुछ बढ़-चढ़कर इंतजाम हो जाए। इसी क्रम में ग्राम पंचायत भरेह के अंतर्गत ग्राम अमदापुर में भारी हुई बारिश से हुई तबाही कई घरों में भरा पानी, बिजली के पोल हुए डिस्टर्ब व प्रा० विद्यालय अमदापुर स्कूल की बाउंड्री भी हुई क्षतिग्रस्त। गांव सभा शिव रोली मैं अभी वारिस से कई घर बुरी तरह धराशाई हो गए लोगों को सर छुपाने के लिए कुछ लोगों को तो सर छुपाने के लिए कोई भी साधन नहीं है खुले आसमान के नीचे बसेरा करने पर विवश हुए।

इसी क्रम में राजेश so सरजू दयाल, शिवराम so सरजू दयाल, नाथूराम so उमराय, पुष्पेन्द्र so हाकिम सिंह व मान सिंह so हाकिम सिंह इनकी दीवार पक्की ढ़ह गयी। पर्थरा मैं प्राइमरी विद्यालय की छत/ सीलिंग बुरी तरह से चटककर दरारें पड़ गईं हैं। अब यह नहीं कहा जा सकता कि हो रही भारी बारिश के दौरान यह छत कब टूटकर धराशाही ना हो जाए।अधिकारियों को इस पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता इसलिए है कि अभी तो विद्यालय बंद है और बच्चे विद्यालय नहीं जा रहे हैं सिर्फ अध्यापकों की उपस्थिति हो रही है यह अध्यापक भी तो हादसे के शिकार हो सकते हैं।