Breaking News

दरभंगा में गैंगवार, अंधाधुंध गोली-बारी में एक बेकसूर की मौत

देखें वीडियो भी

दरभंगा : गैंग ऑफ बासेपुर और किंग ऑफ दरभंगा गिरोह की अदालत में सोमवार को लहेरियासराय थाने स्थित कमर्शियल चौक के पास चली गोली में एक निर्दोष व्यक्ति की मौत हो गई । जबकि गैंग आॅफ वासेपुर के सरगना गौतम सिंह उर्फ जोंटी जख्मी हो गया। जोंटी को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां वह खतरे से बाहर बताया गया है। 10 से 12 राउंड चली गोली से अफरा-तफरी की स्थिति हो गई।

घटना के विरोध में स्थानीय लोगों ने वीआईपी पथ को जाम कर दिया। घटना की सूचना मिलते ही एसएसपी बाबूराम, नगर एसपी योगेंद्र कुमार सहित कई पुलिस पदाधिकारी मौके पर पहुंचकर मामले की जांच की। मौके से पुलिस ने दो खोखा बरामद किया है। पुलिस ने घटनास्थल से ब्लड का सैंपल भी लिया है। मृतक का शिनाख्त स्थानीय निवासी विश्वनाथ साह के 22 वर्षीय पुत्र नवीन कुमार उर्फ चित्रगुप्त के रूप में की गई है। सीने में गोली लगने से उसकी स्थिति घटनास्थल पर ही गंभीर हो गया। लोगों ने आनन-फानन में उसे डीएमसीएच में भर्ती कराया। जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। वह घटना स्थल के पास गैस चुल्हा मरम्मत की दुकान चलाता था। जोंटी के सिर में गोली लगने की बात कही गई है। हालांकि गोली छू कर के निकल गई।

जोंटी सिंह फाइल फोटो

दोनों के बीच वर्ष 2017 से दुश्मनी चल रहा है। रौनक सिंह ने जोंटी को 2017 में सैदनगर स्थित एक चाय की दुकान पर गोली मार दिया था। हाल के दिनों में 20 अगस्त 2019 जोंटी की पत्नी की तस्वीर के साथ छेड़छाड़ कर रौनक ने सोशल साइट पर वायरल कर दिया था। इस मामले को लेकर जोंटी की पत्नी ने लहेरियासराय थाने में मामला दर्ज कराया था। इसके बाद पुरानी दुश्मनी एक बार फिर जिंदा हो गया। दोनों एक दूसरे के खून के प्यासे हो गए। घटना को लेकर लगातार खबरें प्रकाशित की गई थी। जिसमें गोलीबारी की आशंका जताई गई थी। बावजूद पुलिस सोई रही और पुलिस के नाक के नीचे गोली चली। जिसमें निर्दोष की मौत हो गई।

अगर समय रहते पुलिस कारवाई करती तो शायद निर्दोष की जान नहीं जाती। घटना के संबंध में बताया जाता है कि जोंटी अपने कमर्शियल चौक स्थित स्टाइलिश फैशन दुकान पर बैठा था। जहां 3-4 बाइक से बदमाश पहुंचे और दो पिस्टल से अंधाधुंध फायरिंग करना शुरू कर दिया। जख्मी जोंटी ने बताया कि उसके ऊपर रौनक सिंह ने गोली चलवाई है।

घटना के समय रौनक का जूनियर साथी राजा चौधरी और उसका छोटा भाई, मार्शल, रूपेश सिंह, समीर शाही, रोहित यादव, हिमांशु शामिल था। जो दो पिस्टल से उसके ऊपर फायरिंग की। स्थानीय लोगों का कहना है कि जब से जोंटी अपना दुकान खोला है तब से कपड़े की बिक्री की जगह मोहल्ले में नशीली पदार्थ की बिक्री हो रही है। इसे लेकर मोहल्ला के लोगों में काफी आक्रोश है।

यही कारण है कि पुलिस ने फिलहाल जोंटी को जख्मी हालत में हिरासत में ले लिया है। एसएसपी बाबूराम ने बताया कि नगर एसपी योगेंद्र कुमार के नेतृत्व में एसआईटी का गठन कर आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी की जा रही है। सभी आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Check Also

बोले सत्यम सहाय – तीव्र गति से बाढ़ राहत कार्य जारी, अबतक 786 क्विंटल पशुचारा वितरित

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट : जिला आपदा प्रबंधन, दरभंगा के प्रभारी पदाधिकारी सत्यम …