लखनऊ:चोरों के आगे माल पुलिस हुई नतमस्तक,नही कर सकी खुलाशा

3

लखनऊ:चोरों के आगे माल पुलिस हुई नतमस्तक,नही कर सकी खुलाशा

-लोगों का आरोप,केवल मुकदमा दर्ज करके माल पुलिस कर रही दिखावा।

लखनऊ:चोरों के आगे माल पुलिस हुई नतमस्तक,नही कर सकी खुलाशारामकिशोर रावत

माल,लखनऊ।माल पुलिस पस्त और चोर मस्त!जहां अज्ञात चोरों द्वारा इलाके में आधा दर्जन से अधिक बड़ी बड़ी चोरियों को अंजाम दिया जा चुका है वही माल पुलिस को अज्ञात चोरों की भनक तक नहीं लग पा रही है गत शुक्रवार की रात बेखौफ चोरो ने पांच दिन बाद किसान के दूसरे भाई के घर को भी अपना निशाना बना डाला। किसान के घर मे नकब लगाकर हजारो की नकदी सहित लाखो के जेवर पार लगा दिया। जब कि पांच दिन पहले चोर पीड़ित के भाई के भाई अब्दुल हसन के घर को अपना निशाना बनाते हुए नकदी सहित तीन लाख का माल साफ कर दिया था। पीड़ित ने अज्ञात चोरों के विरुद्ध पुलिस को तहरीर दी है। माल इलाके के दिघारा गांव निवासी अब्दुल हसन के घर शुक्रवार रात घर के पिछले हिस्से की पक्की दीवाल काटकर घर मे दाखिल हो गये चोर।

कमरे में रखे दो बक्सों के ताले तोड़ कर उसमे रखे लगभग 9500 रुपये की नकदी सहित लगभग एक लाख से अधिक कीमत के जेवर पर हाथ साफ कर दिया।घटना के समय परिवार कुछ सदस्य छत व कुछ बाहर के कमरे में सो रहे थे। सुबह जब महिलाये घर की सफाई के लिये कमरे में गयी तो कमरे मे बिखरा पडा समान व दीवार में लगी नक़ब देख कर उनके होश उड़ गये। पीड़ित किसान ने घटना की जानकारी पुलिस को दी। मौके पर पहुची पुलिस मामले की जाँच कर रही है। वही पीड़ित किसान ने अज्ञात चोरो के खिलाफ पुलिस को तहरीर दी है।

लखनऊ में डबल मर्डर : लोगों में आक्रोश, पोस्टमार्टम हाउस पर कई थानों की पुलिस तैनात

माल इलाके में अगर पुलिस जोरदार चल रही है तो अज्ञात चोर भी पात पात चलने में कहीं अपने को पीछे नहीं साबित होते देखे जा रहे हैं सबसे बड़ी बात तो यह है की माल इलाके में आधा दर्जन से अधिक बड़ी बड़ी चोरियों को अज्ञात चोरों द्वारा नकाब लगाकर अंजाम दिया जा रहा है लेकिन पुलिस को अज्ञात चोरों की भनक तक नहीं लग पा रही है जिससे यह साबित होता है कि पुलिस चोरों के आगे नतमस्तक साबित होती देखी जा रही है और अज्ञात चोरों द्वारा चोरी की बड़ी बड़ी घटनाओं को अंजाम देकर पुलिस के आगे एक बड़ी चुनौती खड़ी कर देते हैं वही माल पुलिस रे पीड़ित की तहरीर लेकर ही जांच करने के नाम पर मामले को टरका दिया जाता है अज्ञात चोरों के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत करने की जरूरत ही नहीं समझती है।

निचे कमेंट बॉक्स में अपनी प्रतिक्रिया जरुर लिखें