Breaking News

कुख्यात विकास झा को दिल्ली में बिहार एसटीएफ ने किया गिरफ्तार, अगस्त में हुआ था फरार सजायफ्ता कालिया

डेस्क : दरभंगा में डबल इंजीनियर मर्डर से चर्चित व सीतामढ़ी जिले का कुख्यात अपराधी विकास झा उर्फ कालिया दिल्‍ली में गिरफ्तार हुआ है। बिहार की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने उसे गिरफ्तार किया है। विकास झा भागलपुर के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज और अस्पताल, मायागंज स्थित कैदी वार्ड से होमगार्ड जवान की आंखों में मिर्ची पाउडर झोंक कर भाग निकला था। उसके बाद से बिहार पुलिस अनहोनी की आशंका से परेशान थी। विकास के भागने के बाद अनहोनी की आशंका से उत्‍तर बिहार के पांच जिलों की पुलिस को अलर्ट भी कर दिया गया था। विकास इसी साल अगस्‍त में फरार हुआ था। 

विकास झा, कुख्यात गैंगस्टर संतोष झा व मुकेश पाठक गिरोह का शार्प शूटर है। वह नाॅर्थ लिबरेशन आर्मी का सक्रिय सदस्य है। वह बथनाहा थाना के बथनाहा पूर्वी टोला का रहने वाला है।

बता दें कि विकास झा हत्या के मामले में सजायाफ्ता है। सुरक्षा कारणों से उसे सीतामढ़ी जेल से विशेष केंद्रीय कारा (कैम्प जेल) में प्रशासिनक आधार पर शिफ्ट किया गया था। आठ अगस्त को उसे इलाज के लिए मायागंज अस्पताल के कैदी वार्ड में भर्ती कराया गया था। सीतामढ़ी के अलावा पूरे बिहार में उस पर दर्जनों संगीन मामले दर्ज हैं। 

डबल इंजीनियर मर्डर केस से हुआ चर्चित

26 दिसंबर 2015 को दरभंगा के बहेड़ी थाना इलाके के मध्य विद्यालय शिवराम के निकट दिनदहाड़े बाइक सवार बदमाशों ने एसएच -88 का निर्माण करा रही सी एंड सी/ बीएससी ज्वाइंट वेंचर कंपनी के अभियंता मुकेश कुमार और ब्रजेश कुमार को एके -56 से भून डाला। घटना को अंजाम देने के बाद अपराधियों ने मुकेश पाठक और विकास झा जिंदाबाद के नारे लगाए था।

पुलिस जांच में घटना के पीछे निर्माण कंपनी से रंगदारी की मोटी रकम उगाही की बात सामने आई थी। इसमें कुख्यात संतोष झा गिरोह (पीपुल्स लिबरेशन आर्मी) के हाथ होने के संकेत मिला। विकास झा इसी के बाद चर्चा में आया था। इस मामले में विकास को कोर्ट ने उम्र कैद की सजा सुनाई थी। 

विकास ने एक के बाद एक बड़ी घटनाओं को अंजाम दिया है। उसने 31 जुलाई 2013 को बाजपट्टी के मसहा गांव में पुल निर्माता कंपनी कंकड़ बाग पटना के सिलीकोना टेक इंडिया प्राईवेट लिमिटेड कंपनी के संवेदक 43 वर्षीय अनुपम कुमार की हत्या अपने सहयोगियों के साथ कर दी। इसके अलावा बेलसंड व लगमा में कई अभियंता व संवेदकों की हत्या में वह शामिल रहा। वारदात के बाद विकास काठमांडू चला गया था। 18 अगस्त 2013 को एसटीएफ पटना की टीम ने नेपाल से संतोष झा गिरोह के दो कान्ट्रैक्ट किलर विकास झा उर्फ कालिया व चिरंजीवी सागर को गिरफ्तार किया था।

Check Also

दरभंगा कमिश्नर के सचिव दुर्गानंद झा का विदाई समारोह, भेजे गए राज्य विवि सेवा आयोग

सौरभ शेखर श्रीवास्तव की ब्यूरो रिपोर्ट : आयुक्त कार्यालय,दरभंगा के सभागार में आयुक्त के सचिव …