बिहार :: नहीं हुई कोई भी अलाउंसमेंट, स्टेशन मास्टर जिम्मेदार और मौत बनकर दौड़ी रेल।

1

लखीसराय (रजनीश कुमार) : किऊल गया रेलखंड के सिरारी स्टेशन के पास रेलवे हादसे के जिम्मेवार वहां के मौजूद लोगों ने स्टेशन मास्टर व रेल कर्मचारीयो को ठहराया है। हादसे में बाल-बाल बचे बचे परमानंद सिंह ने स्वर्णिम टाइम्स के संवाददाता रजनीश कुमार को बताया कि हम लोग रामपुरहाट ट्रेन से उतर कर रेलवे पुल की पटरी क्रॉस कर रहे थे । उस समय ना तो स्टेशन मास्टर ने कोई भी अनाउंसमेंट करवाया कि कोई थ्रू गाड़ी आ रही है और सिग्नल भी रेड था जब हम लोग पुल के पास पहुंचे तो अचानक सिंगल हरा हो गया जिसके कारण वहां से निकलते निकलते यह हादसा हो गया और 8 लोगों की मौत हो गई। मृतकों के परिजनों के चार चार लाख रुपय देने का और घायलों को 9300 रूपये देने का ऐलान किया गया। वहां पर बने पूल में भी साईड से कोई रास्ता नहीं था।  स्टेशन से करीब ही वह पुलिया है जहां यह हादसा हुआ, अगर उस समय भी स्टेशन मास्टर के द्वारा निर्देशित किया जाता तो शायद यह हादसा नहीं होता। वहां के ग्रामीणों का कहना है कि अगर  सिरारी के स्टेशन मास्टर व  इस घटना में संलिप्त रेलवे कर्मचारी को निलंबित किया जाए नहीं तो रेलवे ट्रैक को जाम कर दिया जाएगा जिसकी लिखित जानकारी रेलवे के मुख्य पदाधिकारी को दे दि गई है। वहां उपस्थित मुकेश यादव, हारे सिंह, मनोज कुमार, विनय कुमार यादव जिलाध्यक्ष जन अधिकार पार्टी आदि सैकड़ों कार्यकर्ता उपस्थित थे।

 

 

हादसे में बाल-बाल बचे बचे परमानंद सिंह ने क्या कहा!

https://youtu.be/h7aOlQaIhwA