Breaking News

दरभंगा : विद्यालयों में विशेष रूप से जाँच कर 20 दिसम्बर तक प्रतिवेदन दे : डीएम !

news-3-dm-baithakदरभंगा : जिला पदाधिकारी डॉ0 चन्द्रशेखर सिंह की अध्यक्षता में शिक्षा विभाग एवं मध्याह्न भोजन योजना की समीक्षात्मक बैठक अम्बेदकर सभागार में की गई। बैठक को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी ने प्रखण्ड शिक्षा पदाधिकारी को कस्तूरबा गाँधी बालिका विद्यालय की जाँच कर प्रतिवेदन भेजने का निदेश दिया। विद्यालयों से फर्जी नामांकन हटाने के निदेश के क्रम में यह जानकारी प्रकाश में आयी कि कुल – 46 विद्यालयों में अब भी एक हजार से ऊपर नामांकन शेष है। इस पर जिलाधिकारी ने प्रखण्ड शिक्षा पदाधिकारी को इन विद्यालयों में विशेष रूप से जाँच कर 20 दिसम्बर तक प्रतिवेदन देने का निदेश दिया। जाँचकर्त्ता संबंधित विद्यालय के प्रधानाध्यपक से सत्यता का प्रमाण-पत्र प्राप्त कर प्रतिवेदन देगें। जिलाधिकारी ने स्पष्ट शब्दों में बताया कि जीविका के दीदीयों को विद्यालय निरीक्षण विहित प्रपत्र में करने मे सभी आवश्यक सहयोग उपलब्ध कराएगें। लेट से आने अथवा अनधिकृत रूप से अनुपस्थित शिक्षकों का वेतन पूरे दिन का काटने एवं सेवापुस्त में उसे दर्ज करने का निदेश दिया गया।

जिलाधिकारी ने सभी प्रखण्ड शिक्षा पदाधिकारियों को किसी भी स्थिति में शिक्षकों को तय समय पर विद्यालयों में उपस्थिति सुनिश्चित कराने का सख्त निदेश दिया। जिला में चल रहे स्वच्छता अभियान में सक्रिय सहयोग करने का निदेश दिया गया। जिन प्रखण्डों एवं पंचायतों में बाहर में शौच से मुक्ति का अभियान चल रहा है वहाँ के विद्यालयों में शौचालय को सुचारू ढ़ंग से परिचालन करवाने हेतु सभी संभव प्रयास करने का निदेश दिया गया। बच्चों में स्वच्छता से संबंधित जागरूकता अभियान के तहत प्रभात फेरी, वाद-विवाद प्रतियोगिता, चित्रकला एवं निबंध प्रतियोगिता एवं पत्र लेखन प्रतियोगिता अभिभावकों के नाम जिसका विषय शौचालय की आवश्यकता होगी करवाने का निदेश दिया गया। प्रथम तीन पत्रों को पुरस्कृत भी किया जाएगा। 26 जनवरी 2017 से पूर्व किरतपुर, अलीनगर एवं हायाघाट प्रखण्डों को बाहर में शौच से मुक्त प्रखण्ड घोषित किया जाना है। इसके लिए इन तीन प्रखण्डो में अवस्थित सभी शौचालयों के सुचारू ढ़ंग से परिचालन सुनिश्चित करवाने का भी निदेश दिया गया।
मध्याह्न भोजन की समीक्षा के क्रम में जिलाधिकारी ने पूर्व में निदेश के आलोक में की गई ग्रेडिग की समीक्षा की। सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले संचालकों के विरूद्ध चेतावनी जारी की गई। बैठक में यह सूचना मिलने पर कि बहेड़ी में मध्य विद्यालय, पोवरा में कुछ अभिभावक बच्चों के माध्यम से मध्याह्न भोजन योजना में व्यवधान डाल रहे है इस पर जिलाधिकारी ने सख्त रूख अख्तियार करते हुए निदेश दिया कि दोषी बच्चों एवं उनसे संबंधित अभिभावकों को खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत नोटिस दिया जाए। नोटिस के वाबजूद भी स्थिति में सुधार न हो पाने की स्थिति में दोषी व्यक्तियों के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज करने का भी निदेश दिया गया।
उक्त बैठक में जिला कार्यक्रम पदाधिकारी(सर्व शिक्षा अभियान) रजनी कान्त प्रवीण, जिला जन सम्पर्क पदाधिकारी कन्हैया कुमार, सभी प्रखण्ड शिक्षा पदाधिकारी व संबंधित पदाधिकारीगण उपस्थित थे।

Check Also

खुशखबरी :: 8300 पीटी शिक्षकों की शीघ्र होगी भर्ती, बिहार के शिक्षा मंत्री ने किया ऐलान

डेस्क : बिहार में शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने विधानसभा में कहा कि 8300 …