Breaking News

डीएम ने की तकनीकी विभागों के कार्य की समीक्षा, दिए कई निर्देश

दरभंगा : जिलाधिकारी डॉ. त्याराजन एस.एम. द्वारा जिला में कार्यरत सभी तकनीकी विभागों के कार्यपालक अभियंतागणों को उनके द्वारा ली गई सभी लोकोपयोगी योजनाओं का क्रियान्वयन ससमय पूरा करने का सख्त निर्देश दिया गया है। हिदायत दिया गया कि दरभंगा निगम क्षेत्र सहित अन्य सभी शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में जलापूर्त्ति की योजना गर्मी शुरू होने के पूर्व पूरी कर उसे चालू किया जाये। कहा कि जलापूर्त्ति योज़ना के असफल होने के चलते अगर इस साल गर्मी के मौसम में पानी का संकट उत्पन्न हुआ तो आपदा प्रबंधन विभाग के प्रावधानों के तहत संबंधित सभी एजेन्सी एवं संवेदक के विरूद्ध थाने में प्राथमिकी दर्ज कर कठोर कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने ये बातें तकनीकी विभागों के कार्य प्रगति की समीक्षा बैठक में कहीं है।

समीक्षा में पाया गया कि बुडको के द्वारा नगर क्षेत्र में मात्र 3100 घरों में पानी का कनेक्शन दिया गया है, जो अत्यंत कम है। समीक्षा में पाया गया कि बुडको एवं पथ निर्माण विभाग द्वारा शहर से जल निकासी हेतु नाला बनाया जा रहा है, लेकिन दोनों विभागो के कार्यपालक अभियंता को यह स्पष्ट नहीं है कि पानी की निकासी किस प्वाइंट पर होगी। जिलाधिकारी द्वारा इसे अत्यंत अफसोस जनक बताया गया। उन्होंने उक्त कार्यपालक अभियंतागणों को नगर आयुक्त के साथ बैठक कर जल निकासी प्वाइंट चिन्ह्ति कर नाला का तीव्र गति से निर्माण कराने का निदेश दिया।


कार्यपालक अभियंता लोक स्वास्थ्य प्रमण्डल को अर्सेनिक प्रभावित गाँव/वार्डों में अर्सेनिक ट्रीटमेट संयत्र संस्थापित करने को कहा गया। कार्यपालक अभियंता ने बताया कि आर्सेनिक प्रभावित कुल 24 वार्डों में ट्रीटमेट संयत्र लगाने हेतु टेंडर हो गया है। जिलाधिकारी द्वारा कार्यपालक अभियंता को बताया गया कि कतिपय मिनी जलापूर्त्ति योजनाओं के फंकशनल नहीं रहने की शिकायतें प्राप्त हुई है।उन्हें इन योजनाओं के दोष को दूर कर इसे मार्च तक हर हालत में चालू करने का निदेश दिया गया।
कार्यपालक अभियंता, भवन प्रमण्डल द्वारा बताया गया कि दरभंगा में एक अत्याधुनिक तारा मंडल का निर्माण तेजी से हो रहा है। बिरौल, बेनीपुर, बहेड़ी, जाले प्रखण्डों में आई.टी. भवन तैयार कर हैंड-ऑवर कर दिया गया है। वाणेश्वरी धाम का जीर्णोद्धार कार्य मार्च तक पूरा हो जायेगा। कहा कि बाढ़ आश्रय स्थल का कार्य शुरू हुआ है जिसपर जिलाधिकारी द्वारा बाढ़ आश्रय स्थल के निर्माण में विलंब के लिए सख्त नाराजगी व्यक्त किया गया । कार्यपालक अभियंता, पथ प्रमण्डल, दरभंगा/बेनीपुर द्वारा बताया गया कि उनके द्वारा ली गई सभी योजनाओं का कार्य प्रगति में है और यह तय समय पर पूरा हो जायेगा। इसमें दरभंगा-कमतौल-बसैठा-मधवापुर पथ, अहिल्यास्थान-कमतौल, अहिल्यास्थान-गौतमकुंड आदि पथ शामिल है।
कार्यपालक अभियंता, भवन निर्माण निगम द्वारा बताया गया कि मानू में 100 बेड का ब्यॉज छात्रावास का टेंडर हो गया है, जबकि 100 बेड का गर्ल्स छात्रावास का निर्माण के लिए प्रशासनिक स्वीकृति प्राप्त हो गई है।
जल संसाधन विभाग के कार्यपालक अभियंता ने बताया कि ककड़घटी तटबंध योजना का टेंडर हो गया है। शीघ्र ही निर्माण कार्य प्रारंभ होगा। पथ प्रमण्डल, बुडको, भवन प्रमण्डल, एलएइओ आदि द्वारा बताया गया कि निर्माण स्थल पर कहीं कहीं अतिक्रमण रहने के चलते कार्य कराने में दिक्कतें हो रही है। जिलाधिकारी ने नगर आयुक्त, उप विकास आयुक्त, जिला पंचायती राज पदाधिकारी एवं जिला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी को अंचलाधिकारी एवं थाना के माध्यम से अतिक्रमण हटवा देने को कहा है।


इस बैठक में उप विकास आयुक्त डॉ. कारी प्रसाद महतो, जिला भू-अर्जन पदाधिकारी, जिला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी, जिला जन सम्पर्क पदाधिकारी, सभी तकनीकी विभागों के कार्यपालक अभियंतागण उपस्थित थे।

Check Also

महंगाई डायन के जनक नीतीश व पितामह मोदी का पुतला-दहन, सरकार के विरोध में प्रदर्शनकारियों ने जमकर निकाली भड़ास

डेस्क : बिहार प्रदेश आरजेडी के आह्वान पर हनुमाननगर प्रखंड में आरजेडी के बैनर तले …