Breaking News

जाले अंचल निरीक्षक को डीएम ने किया निलंबित, सीओ पर प्रपत्र ‘क’ गठित

दरभंगा : राजस्व संग्रह व दाखिल खारिज के कार्यो में संतोषजनक प्रगति नहीं रहने के कारण जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एस.एम. ने प्रभारी अंचल निरीक्षक को निलंबित कर दिया है।

वहीं तीन अंचला अधिकारी, अंचल निरीक्षक और राजस्व कर्मचारी के वेतन भुगतान पर रोक लगाते हुए उनसे कारणपृच्छा पूछा है। अधिकृत रूप से दी गयी जानकारी के अनुसार जिलाधिकारी ने आज राजस्व मामले को लेकर समीक्षा बैठक की। बैठक में अत्यंत कड़ा रूख अपनाते हुए तीन अंचलों के अंचलाधिकारी एवं प्रभारी अंचल निरीक्षक से स्पष्टीकरण पूछा है और उनके दो दिनों के वेतन भुगतान पर रोक लगा दिया गया है।

वहीं जाले के प्रभारी अंचल निरीक्षक शिव कुमार को कार्य में अभिरूचि नहीं लेने, लापरवाही बरतने, निदेशों का अनुालन नहीं करने के चलते निलंबित कर दिया गया है। वहीं जाले अंचल अधिकारी पर प्रपत्र-क गठित कर अनुशासनिक कारवाई करने का आदेश दिया। वहीं कार्यपालक सहायक को पदमुक्त कर दिया गया है। समीक्षा में जाले, हनुमाननगर, कुशेश्वरस्थान अंचलों में राजस्व संग्रहण, दाखिल-खारिज वादों का निस्तारण, अतिक्रमण वाद का निस्तारण, आॅनलाइन लगान की वसूली आदि कार्यों की प्रगति अत्यंत खराब पाई गई है। जिलाधिकारी द्वारा इस पर सख्त नाराजगी व्यक्त किया गया और इन अंचलों के अंचलाधिकारी, अंचल निरीक्षक एवं संबंधित राजस्व कर्मचारी के विरूद्ध कार्रवाई की गई है। वहीं प्रभारी अंचल निरीक्षक, जाले शिव कुमार को निलंबित कर दिया गया है। जाले के कार्यपालक सहायक को भी वहाँ से हटा दिया गया है।

वहीं हनुमाननगर एवं कुशेश्वरस्थान के अंचलाधिकारियों एवं अंचल निरीक्षकों से स्पष्टीकरण पूछा गया है और उनके वेतन भुगतान पर रोक लगा दिया गया है। जिलाधिकारी ने सभी अंचलाधिकारी को अंचल निरीक्षक, राजस्व कर्मचारी एवं कार्यपालक सहायक के कार्यों का नियमित अनुश्रवण करने को कहा है। उन्होंने कहा कि राजस्व मामलों की प्रगति जिस अंचल में खराब होगी उसकी सारी जवाबदेही उक्त अंचल के अंचलाधिकारी की ही होगी। इसलिए जो अंचल निरीक्षक अथवा राजस्व कर्मचारी, आॅपरेटर कार्य नहीं कर पा रहे हं,ै उनके खिलाफ तुरंत रिपोर्ट करने को कहा गया है। जिलाधिकारी ने कहा कि जल-जीवन हरियाली अभियान के तहत अतिक्रमित तालाब-पोखरों को अतिक्रमण मुक्त कराकर उसकी उड़ाहीकरण कराने एवं इसमें पौधारोपण करावें। उन्होंने कहा कि अतिक्रमण वाद चलाकर सभी सैरातों को मुक्त कराई जाये एवं स्पष्ट रिपोर्ट भेजी जाये। जिलाधिकारी ने अतिक्रमणकारियों के विरूद्ध प्राथमिकी भी दर्ज कराने का निदेश दिया है।

Check Also

दर दर की ठोकरे खा रहे बुजुर्ग, नही हो रहा विश्वविद्यालय थाना में एफआईआर दर्ज

मामले को अकिंत करने के बजाय उलझाने में लगे है विश्वविद्यालय थाना दरभंगा। विश्वविद्यालय थाना …