Breaking News

बिहार :: दलित-गरीबों की पहचान व आंदोलन की सबसे बड़ी पार्टी भाकपा माले – धीरेन्द्र

दरभंगा (विजय सिन्हा) : भाकपा माले के पोलित ब्यूरो सदस्य धीरेन्द्र झा ने दरभंगा में आयोजित संवाददाता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहा कि बिहार में बन रहे भाजपा विरोधी महागठबंधन में भाकपा माले का अहम किरदार है। हमारी कोशिश है कि राज्य में पिछले दिनों चले धारावाहिक जनांदोलनों की जमीनी हकीकत,विधानसभा में दलों की उपस्थिति और सामाजिक राजनीतिक प्रभाव के आधार पर भाजपा विरोधी दलों के बीच मुकम्मल तालमेल हो। 

हमे भाजपा की हर कोशिश को विफल करना है और इसके लिए जरूरी है कि भाजपा को कोई मौका नही मिले। माले नेता ने कहा कि महागठबंधन की चर्चा मात्र से भाजपा-जदयू में भगदड़ मची है। अगर मुकम्मल गठबंधन बन गया तो राज्य में 1977 जैसा माहौल बन जायेगा। उन्होंने कहा कि भाकपा माले बिहार में राजद और भाजपा के बाद दूसरी सबसे बड़ी पार्टी है जिसका ठोस जनाधार पुरे राज्य में बना है। दलित-गरीबों की पहचान और आंदोलन की सबसे बड़ी पार्टी भाकपा माले ही है जो जमीनी स्तर पर व्यापक सामाजिक राजनीतिक मोर्चा बनाकर भाजपाई उन्माद की राजनीति का मुकाबला कर रही है। वे भाकपा माले ज़िला कार्यालय में संवाददाता सम्मेलन में बोल रहे थे। सीटों की संख्या से सम्बंधित सवालों का जबाव देते हुए उन्होंने कहा कि गठबंधन की जरूरत के मद्देनजर ही माले ने अपने विस्तार की सीटों को छोड़कर पुरानी और मज़बूत पहचान की छह सीटों की घोषणा की है जिसमे।आरा, सीवान, जहानाबाद, काराकाट, पाटलिपुत्र और वाल्मीकिनगर की छह सीट शामिल है। देश, संविधान की रक्षा के लिए बड़ी एकता के लिए जरूरी हुआ तो हम कुछ और त्याग कर सकते हैं। सीतामढ़ी के मुख्यालय के डूमरा थाने में पुलिस हाज़त में की गई दो नौजवानों की हत्या दिखलाता है कि राज्य में पुलिस-प्रशासन का भी भगवाकरण हो गया है और पुलिस अपराधी की भूमिका में खड़ी है। हाज़त में हत्या के खिलाफ राज्यभर में मुहिम तेज़ होगी और उच्चस्तरीय न्यायिक जांच की मांग उठाई जाएगी। हाज़त में हत्या के लिये सीतामढ़ी पुलिस कुख्यात रही है, पूर्व में रुणिसैदपुर थाना में माले नेता अशोक शाह की हत्या हुई थी, उसकी रिपोर्ट आज तक नही आई है और न ही किसी पर कोई कार्रवाई हुई है। इस मुद्दे पर जो भी आंदोलन होगा, माले की सहभागिता रहेगी क्योंकि यह मानवाधिकार के उल्लंघन की काली तस्वीर पेश कर रही है।मुज़फ़्फ़रपुर शेल्टर होम ब्लात्कारकाण्ड की शर्मसार करने वाली घटना के बाद यह दूसरी घटना है जिसने पूरे देश मे राज्य को शर्मसार किया है। वही सीतामढ़ी अररिया भीड़ हिंसा ने लोगों को चिंतित किया है। आगे उन्होंने कहा कि बच्चीयों के न्याय और निष्पक्ष जांच का तकाजा है कि नीतीश कुमार इस्तीफा दें। इस मौके पर बोलते हुए पार्टी के दरभंगा ज़िला के सचिव बैद्यनाथ यादव ने कहा कि अपराध का बढ़ता ग्राफ दरभंगा के लोगों का चैन छीन लिया है। चुनाव में भाकपा माले स्वतन्त्र चुनाव अभियान चलाएगी और विधानसभा के स्तर पर प्रचार टीमें संगठित करेगी। गरीबों का वास आवास, पेपर-चीनी मिल की बन्दी, मिथिलांचल में केंद्रीय विश्विद्यालय और बाढ़-सुखाड़ के स्थायी समाधान मुख्य मुद्दा होगा।संविधान और लोकतंत्र रक्षा के मुहिम को गाँव गांव तक पहुंचाया जाएगा।

संवाददाता सम्मेलन में खेग्रामस के प्रदेश उपाध्यक्ष लक्ष्मी पासवान, माले जिला स्थायी समिति सदस्य सह वहादुरपुर देकुली मुखिया नंदलाल ठाकुर, खेग्रामस जिला अध्यक्ष जंगी यादव , इंसाफ मंच के वरीय प्रदेश उपाध्यक्ष नेयाज अहमद भी मौजूद थे।

Check Also

प्रखंडों में टीएचआर वितरण में गड़बड़ी पाई गई तो नपेंगे बाल विकास परियोजना पदाधिकारी – डीएम दरभंगा

डेस्क : दरभंगा समाहरणालय अवस्थित अम्बेडकर सभागार में जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एस.एम. की अध्यक्षता में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *